Sports

मेलबर्न : आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मैट रेनशॉ ने स्वीकार किया कि भारत के खिलाफ 9 फरवरी से शुरू हो रही चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को खेल पाना सबसे कठिन होगा। नागपुर में शुरू हो रही बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी से पहले सभी का फोकस इस बात पर है कि आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज इस धुरंधर भारतीय आफ स्पिनर को कैसे खेलते हैं । अश्विन 2021 में बायें हाथ के 200 बल्लेबाजों को आउट करने वाले पहले गेंदबाज बने थे। 

आस्ट्रेलियाई टीम में डेविड वॉर्नर, उस्मान ख्वाजा, ट्रेविस हेड, विकेटकीपर एलेक्स कारी और खुद रेनशॉ समेत कई खब्बू बल्लेबाज हैं। रेनशॉ ने कहा, ‘अश्विन को खेलना कठिन है। वह चतुर गेंदबाज है और उसके पास काफी विविधता है जिसका वह बखूबी इस्तेमाल करता है। लेकिन उसे कुछ समय खेलने के बाद आसान हो जाता है। खब्बू बल्लेबाजों के लिए वह कठिन चुनौती है।' उन्होंने कहा, ‘उसकी टर्न लेती गेंद पर स्लिप में कैच आउट होने का खतरा रहता है लेकिन स्पिन नहीं लेने वाली गेंद पर आप पगबाधा हो सकते हैं। उसके लिए तैयार रहना होगा।' 

उन्होंने कहा कि बिग बैश लीग में खेलने के उन्हें तैयारी में काफी मदद मिली क्योंकि उनकी टीम स्पिनरों से भरी हुई थी। उन्होंने कहा, ‘भारत में हालांकि हालात अलग होंगे लेकिन हमने उसे ध्यान में रखकर पूरी तैयारी की है। भारत जाने पर हमारे पास एक हफ्ते का समय होगा जिसमें हम तैयारी पुख्ता कर लेंगे।'