IPL 2019
Sports

उदयपुर : एशियन पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप 2018 में मेजबान भारत ने सबसे अधिक 36 स्वर्ण पदक जीतकर अपना दबदबा कायम रखा है। राजस्थान के उदयपुर में संपन्न हुई इस चैम्पियनशिप में भारत ने 36 स्वर्ण, 19 रजत तथा 10 कांस्य पदक हासिल किए। दूसरे स्थान पर रहे कजाकिस्तान ने नौ स्वर्ण, छह रजत एवं सात कांस्य पदक जीते। चीन आठ स्वर्ण, एक रजत एवं एक कांस्य पदक जीतकर तीसरे स्थान पर रहा।

फिलीपींस ने छह स्वर्ण, चार रजत एवं चार कांस्य पदक जीते जबकि ईरान ने पांच स्वर्ण, एक रजत पदक जीता। इंडोनेशिया ने पांच स्वर्ण पदक हासिल किए। हांगकॉग को तीन स्वर्ण एवं एक कांस्य, लेबनान को एक स्वर्ण तथा उज्बेकिस्तान को एक स्वर्ण एवं एक रजत पदक मिला।

ओमान ने एक स्वर्ण, दो रजत एवं एक कांस्य तथा अफगानिस्तान ने दो कांस्य पदक हासिल किये। एशियन पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप 2018 में स्ट्रांग मेन सीनियर में इंडोनशिया के डोनी मैयन्तो प्रथम तथा इंडोनेशिया के मुजी सेशनों उपविजेता जबकि इंडोनेशिया के विकी अरायन्तो तीसरे स्थान पर रहे।  

राजस्थान राज्य पावर लिफ्टिंग संघ और पावर लिफ्टिंग इंडिया के तत्वावधान में हुई चैम्पियनशिप के अंतिम दिन भारत के जगदीश कृष्णा पी ने पुरूषों के (सीनियर वर्ग)120 किलोग्राम भार वर्ग में 897.5 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता। इसी वर्ग में उजबेकिस्तान के एवगेनिय काप्रलोव ने 877.5 किलोग्राम भार उठाकर रजत पदक पर कब्जा किया जबकि चीन के वेन शो यांग ने 872.5 किलोग्राम उठाकर कास्य पदक हासिल किया।

120 किलोग्राम से अधिक भार वर्ग में लेबनान के हल्बी डेनियल ने 932.5 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता जबकि कजाकिस्तान के एवजनीय एवडोकीमो ने 927.5 किलोग्राम वजन उठाकर रजत पदक जीता। अफगानिस्तान के सोखन फवाद श्रीन ने 865 किलो वजन उठाकर कास्य पदक जीता।

120 किलोग्राम के अधिक भार वर्ग में कजाकिस्तान के वादिम सैसिन ने 540 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता जबकि ईरान के मोहम्मद अब्बासबा ने 700 किलोग्राम भार उठाकर रजत पदक हासिल किया वहीं कजाकिस्तान के जहससुरबेक अखमेट ने 510 किलोग्राम वजन उठाकर कांस्य पदक जीता।

भारत के अशरफ अली कित्तूर ने 120 किलोग्राम के अधिक भार वर्ग में 882.5 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता। इसी वर्ग में भारत के ही सैयद रब्बन कादरी ने 880 किलोग्राम वजन उठाकर रजत पदक जीता। मास्टर वन के 120 किलोग्राम भारत वर्ग में मंगोलिया के ओतगोंबयर आयुष ने 740 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता। 

120 किलोग्राम के अधिक भार वर्ग में भारत के शरत कुमार आर ने 720 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता। इसी वर्ग में भारत के ही अम्बर अरूण जोशी ने 525 किलोग्राम वजन उठाकर रजत पदक जीता। मास्टर टू में 120 किलोग्राम भार वर्ग में भारत के सी सिवा कुमार ने 505 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता।

105 किलोग्राम सीनियर भार वर्ग में ईरान के मोस्टेफो रंजबार ने 952.5 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता। इसी वर्ग में कजाकिस्तान के ललया मसलोव ने 950 किलोग्राम वजन उठाकर रजत पदक पर कब्जा किया, वहीं भारत के राघवेन्द्र गौड़ ने 850 किलोग्राम भार उठाकर कांस्य पदक जीता।

सब जूनियर में कजाकिस्तान के निकोले क्रासन्नोस्सों ने 380 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता। जूनियर वर्ग में भारत के इंद्रजीत सिंह ने 750 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता जबकि चीन के चुन मा ने 602.5 किलोग्राम वजन उठाकर रजत पदक पर कब्जा किया।

मास्टर वन में सीरिया के फडी अलशोरक्की ने 797.5 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता। भारत के नृपेन्द्र नारायण ने 762.5 किलोग्राम वजन उठाकर रजत पदक हासिल किया जबकि अफगानिस्तान के नूर अहमद सखीजा ने 635 किलोग्राम भार उठाकर कांस्य पदक जीता।

मास्टर टू में भारत के गुरिंदरपाल सिंह ने 605 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता। ईरान के यघोउब अमीरसलरी ने 530 किलोग्राम भार उठाकर रजत पदक पर कब्जा किया। मास्टर चार में ईरान के हसौद सत्तारजादी ने 435 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता।

.
.
.
.
.