Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: सीनियर बल्लेबाज फाफ डुप्लेसिस ने सोमवार को दक्षिण अफ्रीका की टेस्ट और टी20 टीम की कप्तानी तुरंत प्रभाव से छोड़ दी। डुप्लेसिस ने कहा है कि टीम को नई पीढ़ी के नेतृत्वकर्ताओं की जरूरत है। इंग्लैंड के खिलाफ हाल में संपन्न एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला में डुप्लेसिस की जगह डिकाक को कप्तान नियुक्त किया गया था। डुप्लेसिस ने कहा कि उन्होंने यह फैसला इसलिए किया जिससे कि दक्षिण अफ्रीका को नए युग की शुरुआत करने में मदद मिले। 

डुप्लेसिस ने बयान में कहा, ‘अगर सभी चीजें सही होती तो मैं बाकी सत्र में टेस्ट मैचों और टी20 विश्व कप में टीम की अगुआई करना पसंद करता।' उन्होंने कहा, ‘लेकिन कभी कभी नेतृत्वकर्ता के लिए सबसे महत्वपूर्ण यह होता है कि वह स्वार्थी नहीं हो। मैं स्वस्थ, फिट, उर्जावान और प्रेरित हूं और निश्चित तौर पर खुद को टीम के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए देखता हूं।' डुप्लेसिस को इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला से आराम दिया गया था। इस श्रृंखला को दक्षिण अफ्रीका ने 1-2 से गंवाया। डुप्लेसिस का यह फैसला उस समय आया है जब दक्षिण अफ्रीका को शुक्रवार से यहां आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला और फिर तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला खेलनी है। 

डुप्लेसिस ने आगे कहा, ‘पिछले कुछ हफ्तों के आराम के कारण खेल से दूर रहने से मुझे इस बारे में सोचने का मौका मिला कि खेल के तीनों प्रारूपों में देश का प्रतिनिधित्व और नेतृत्व करना कितने सम्मान की बात रही।' उन्होंने कहा, ‘यह कभी कभी शानदार, कभी मुश्किल और कभी सुनसान राह रही। लेकिन यह अनुभवी काफी महत्वपूर्ण रहा जिसने मुझे वह व्यक्ति बनाया जिस पर आज मुझे गर्व है।'
 

 

 

 

 

 

 

.
.
.
.
.