Sports

कर्नाटक : बाढ़ से प्रभावित मन्नूर जिले के बेलगावी गांव से 19 साल के  निशान मनोहर कदम की स्टेट लेवल बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में सिल्वर जीतने की कहानी बेहद दिलचस्प है। बीते दिनों निशान का पूरा इलाका बाढ़ के कारण प्रभावित हो गया था। उनके घर तक में बाढ़ का पानी घुस गया था। ऐसे समय में निशान ने चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने के लिए अपने पिता के साथ बाढ़ के पानी में अढ़ाई किलोमीटर तक स्विमिंग की ताकि वह रोड पर खड़े अपने साथियों के साथ चैम्पियनशिप के लिए रवाना हो सके। निशान ने चैम्पियनशिप में हिस्सा लेकर सिल्वर जीता, जिसके बाद उनके संघर्ष की सब ओर वाहवाही हो रही है।

PunjabKesari

निशान ने कहा- मैं इस इवैंट का लंबे समय से इंतजार कर रहा था, किसी मैं किसी कीमत पर मिस नहीं करना चाहता था। हमारे इलाके में पानी भर जाने के कारण व्हीकल आने का रास्ता बंद हुआ तो हमारे पास सिवाए तैरकर जाने के कोई उपाय नहीं बचा। बेंगलुरु के भरथ से लाइट फ्लाइट कैटेगिरी में गोल्ड हारने के बावजूद भी निशान को कोई गिला नहीं है। उसका कहना है कि इस बार मैं अपनी बुरी किस्मत के कारण गोल्ड नहीं जीत पाया। लेकिन अगले साल मैं जरूर गोल्ड जीतूंगा।

PunjabKesari

बता दें कि बैलागेवी के ज्योति पीयू कॉलेज में निशान 12वीं कक्षा का छात्र है। दो साल पहले उन्होंने एमजी स्पोर्टिंग अकादमी में अर्जुन अवॉर्डी कैप्टन मुकुंद कैलेकर की देखरेख में बॉक्सिंग की ट्रेनिंग शुरू की थी। निशान के टीम मैनेजर गजेंद्र एस त्रिपाठी ने बताया कि बीते कुछ दिन मुश्किल से भरे थे। क्योंकि बाढ़ के कारण यात्रा मुश्किल थी तो ऐसे में कई पेरेंट्स ने अपने बच्चों को कंपीटिशन के लिए भेजा ही नहीं। निशान ने भी कई दिन तक प्रैक्टिस मिस कर दी थी लेकिन जब उसे चैम्पियनशिप के बारे में पता चला तो उसने कहा कि उसे वहां जाना ही है। निशान ने जब कहा कि वह तैर कर सड़क तक आ जाएगा तो हम रोड पर उसका इंतजार करते रहे।

निशान और उसके पिता ने शाम 3.45 मिनट पर घर से तैरना शुरू किया था। 45 मिनट में यानी 4.30 पर वह रोड तक पहुंचे। रोड पर उनके छह साथी उसका इंतजार कर रहे थे। बता देंकि कर्नाटक एमैच्युर एसोसिएशन की ओर से आयोजित इस चैम्पियनशिप में 19 टीमों की 6 अलग कैटेगिरी में 248 बॉक्सरोंने हिस्सा लिया था।

.
.
.
.
.