Sports
चेन्नई, 16 अक्टूबर (भाषा) श्रीलंकाई क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन ने शुक्रवार को कहा कि उनकी जिंदगी पर प्रस्तावित बायोपिक ‘800’ सिर्फ उनके खेल की उपलब्धियां के बारे में हैं और उन्होंने देश में दशकों के लंबे संघर्ष के बावजूद ऐसा किया।

उन्होंने इस बात पर नाराजगी व्यक्त की कि उन पर तमिलों के खिलाफ होने का आरोप लगाया जा रहा है और कहा कि यह राजनीतिक कारणों और अज्ञानता के कारण ही है।

तमिलनाडु के अभिनेता विजय सेतुपति बायोपिक में अपने करियर को फिर से शुरू कर रहे हैं। कुछ राजनीतिक पार्टियों ने गुरुवार को आरोप लगाया कि मुरलीधरन ने तमिलों से विश्वासघात किया इसलिए सेतुपति को इसमें काम नहीं करना चाहिए।

मुरलीधरन ने कहा कि उन्होंने कभी भी मासूम लोगों को मारे जाने का समर्थन नहीं किया। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि वह श्रीलंकाई गृहयुद्ध के दर्द को समझते हैं और उनके परिवार ने श्रीलंका में अपनी यात्रा ‘कूली’ के तौर पर की थी।

उन्होंने कहा, ‘‘हम भी काफी प्रभावित रहे हैं। ’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.