Sports

नई दिल्ली : साइना नेहवाल का खेल देखकर बड़ी हुई युवा बैडमिंटन खिलाड़ी मालविका बंसोड़ ने गुरुवार को इंडिया ओपन में ओलंपिक कांस्य पदक विजेता के खिलाफ अपनी जीत को अपने करियर की सबसे बड़ी जीत में से एक करार दिया। मालविका ने हाल में चोटों से परेशान रही साइना को दूसरे दौर में 21-17, 21-10 से हराया। 

PunjabKesari

मालविका ने मैच के बाद कहा कि मुझे अभी तक विश्वास नहीं हो रहा है। यह शानदार अहसास है और मैं जीत के बाद वास्तव में उत्साहित हूं। वह मेरी आदर्श रही हैं क्योंकि वह एक दशक से अधिक समय से भारत में महिला बैडमिंटन की ध्वजवाहक रही है। मैंने उन्हें खेलते हुए देखकर शुरुआत की और मेरे खेल पर उनका काफी प्रभाव है। खेल की उनकी शैली मुझे पसंद है। उनके पास काफी शक्ति है और इसलिए मुझे उनका खेल पसंद है। आज मैंने आलराउंड खेल खेला। इसमें और कुछ खास नहीं था। यह पहला अवसर था जबकि किसी बड़े टूर्नामेंट में साइना और मालविका आमने सामने थी।

मालविका ने कहा कि वह हमेशा मेरी आदर्श रही हैं। इसलिए उनके खिलाफ खेलना सपना सच होने जैसा था और वह भी इंडियन ओपन जैसे बड़े मंच पर। यह जीत एक सुपर 500 टूर्नामेंट में मिली। यह मेरे लिए एक बड़ी उपलब्धि है। यह मेरे करियर की अब तक सबसे बड़ी जीत में से एक है। इस बीच साइना ने कहा कि उन्हें खुशी है कि वह दो मैच खेलने में सफल रही जबकि अभी वह पूरी तरह से फिट नहीं हैं। आज मैं कोर्ट पर ‘मूव' कर रही थी लेकिन मेरी फिटनेस वैसी नहीं है जैसी होनी चाहिए थी। मैं यहां अपनी स्थिति का आकलन करने के लिये आयी थी। मेरा शरीर अच्छा है लेकिन फिटनेस स्तर पर सुधार की जरूरत है।

.
.
.
.
.