Sports

भुवनेश्वर: स्टार पहलवान विनेश फोगाट ने शनिवार को ‘मीटू’ अभियान का समर्थन करते हुए कहा कि देश को अपनी महिलाओं के प्रति होने वाले यौन उत्पीडऩ को रोकने के तरीके ढूंढने चाहिए। एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक प्राप्त करने वाली विनेश ने हालांकि कहा कि उन्होंने अपने करियर में कभी भी इस तरह के यौन उत्पीडऩ का अनुभव नहीं किया है। 
vinesh poghat
उन्होंने यहां एकामरा खेल साहित्य महोत्सव पर चर्चा के दौरान कहा, ‘ऐसे मामले खेलों में भी हो सकते हैं, मैं नहीं जानती लेकिन मुझे अपने करियर में इस तरह के यौन उत्पीडऩ का सामना नहीं करना पड़ा है। मुझे यह भी लगता है कि मेरे खेल कुश्ती में इस तरह के मुद्दें नहीं होने चाहिए।’ 
PunjabKesari
उन्होंने कहा, ‘महिलाए जो सामने आ रही हैं, वे साहसिक हैं। जब एक महिला इस तरह की चीजों को सामने लाना चाहती है तो कई बार आपका परिवार आपको ऐसा करने से रोकता है कि इससे बदनामी होगी। देश को महिलाओं के प्रति इस तरह के मुद्दों से निपटना आना चाहिए।’ 

.
.
.
.
.