Sports

नयी दिल्ली : तोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन इस्तांबुल में सोमवार से शुरू हो रही आईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप के 12वें सत्र के पहले दिन पूर्व चैम्पियन चेन निएन-चिन से भिड़ेंगी। टूर्नामेंट में भारतीय मुक्केबाजों को मिश्रित ड्रॉ मिला है जिसमें बोरगोहेन (70 किग्रा) के मुकाबले से भारतीय अभियान शुरू होगा। बोरगोहेन तोक्यो ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में निएन-चिन को हरा चुकी है लेकिन चीनी ताइपे की मुक्केबाज ने इस टूर्नामेंट के 2018 और 2016 सत्र में क्रमश: स्वर्ण और कांस्य पदक अपने नाम किये हैं।

दो बार की एशियाई चैम्पियन पूजा रानी (81 किग्रा), नंदिनी और निकहत जरीन (52 किग्रा) को भी अपने-अपने वर्ग में कड़ा ड्रॉ मिला है। पूजा अंतिम 16 के दौर में दो बार की विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता हंगरी की तिमिया नेगी से भिड़ेंगी, जबकि नंदिनी (81 किग्रा से अधिक) को पहले दौर में बाई मिली है, लेकिन क्वार्टर फाइनल में उनका सामना मोरक्को की कांस्य पदक विजेता खदीजा अल-मर्डी से होगा। निकहत पहले दौर में मैक्सिको की हेरेरा अल्वारेज़ से भिड़ेगी।

जैस्मिन (60 किग्रा) पहले दौर में दो बार की युवा एशियाई चैंपियन थाईलैंड की पोर्नटिप बुपा से भिड़ेंगी। अन्य भारतीयों में अंकुशिता (66 किग्रा) , नीतू (48 किग्रा), अनामिका (50 किग्रा), शिक्षा (54 किग्रा), मनीषा (57 किग्रा), परवीन (63 किग्रा) और स्वीटी (75 किग्रा) को अपेक्षाकृत आसान ड्रॉ मिला है।

.
.
.
.
.