Sports

बेंगलुरु (कर्नाटक) : चिली दौरे में भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम के लिए शीर्ष प्रदर्शन करने वालों में से 19 वर्षीय स्ट्राइकर संगीता कुमारी का कहना है कि हाल ही के दौरे से उन्हें खूब मदद मिली है। पांच मैचों में चार गोल करने वाली संगीता ने कहा कि टीम की सफलता में योगदान देना एक शानदार अहसास था, खासकर महामारी की स्थिति के कारण लंबे अंतराल के बाद मैदान पर लौटने से और भी खुशी मिली।

संगीता ने कहा- मैं काफी लंबे समय के बाद खेल रही थी क्योंकि मुझे 2019 में चोट लगी थी और फिर कोविड-19 की वजह से दिक्कत हुई। अब वापस लौटना और टीम की जीत में योगदान देना बहुत अच्छा लग रहा है। इसका श्रेय सभी को जाता है। कोचिंग स्टाफ और टीम के साथियों का समर्थन और विश्वास जताने के लिए शुक्रिया। 

संगीता ने कहा- महामारी के कारण 2020 में कोई प्रतिस्पर्धा नहीं होने के बावजूद हमने चिली में वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया। हमने दौरे के लिए शिविर में वास्तव में कड़ी मेहनत की थी। बता दें कि झारखंड में जन्मी संीगता पहली बार 2016 गल्र्स यूथ 18 एशिया कप के दौरान सुर्खियों में आई थी, जहां उसने आठ गोल किए थे और टीम को कांस्य पदक दिलाने में मदद की। वह हॉकी झारखंड टीम का भी हिस्सा थीं जिसने 9 वीं हॉकी इंडिया जूनियर महिला राष्ट्रीय चैम्पियनशिप 2019 जीती थी।

.
.
.
.
.