Sports

नई दिल्ली : 18वें एशियाई खेलों में पुरुष हॉकी टीम से देश को गोल्ड की उममीद थी लेकिन टीम इंडिया लीग मैचों में 76 गोल करने के बावजूद सैमीफाइनल मैच में मलेशिया से हार गई। हार बाबत भारतीय हॉकी टीम के फारवर्ड एस.वी सुनील का मानना है कि उनकी टीम आगामी विश्व कप में पिछले टूर्नमेंट की गलतियों को नहीं दोहराएगी और अच्छा प्रदर्शन करते हुए 1975 के बाद पहली बार टूर्नमेंट का खिताब जीतने का प्रयास करेगी। 

PunjabKesari
जकार्ता से कांस्य पदक लेकर लौटे सुनील ने बातचीत में कहा, ‘मलयेशिया हमसे बेहतर खेल नहीं खेली बल्कि हम अपनी गलतियों के कारण मैच गंवा बैठे। हर टूर्नमेंट में एक बुरा दिन होता है और हमारे लिए वह बुरा दिन था। हम अगर गोल्ड मेडल जीतते तो ओलिंपिक के लिए भी क्वॉलिफाइ कर पाते लेकिन अब हमें थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा।’ फॉरवर्ड सुनील ने कहा कि एशियाई खेलों में उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। अपनी गलतियों पर काम करते हुए यह सुनिश्चित करने का प्रयास करेगी कि विश्व कप जैसे महत्वपूर्ण टूर्नामेंट में पुरानी गलतियों को नहीं दोहराए। 

PunjabKesari

.
.
.
.
.