Sports

नई दिल्ली : पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश मुक्केबाज और 2004 ओलंपिक रजत पदक विजेता आमिर खान का सुपर बॉक्सिंग लीग (एसबीएल) में भारत के मुक्केबाज नीरज गोयाट से मुकाबला होगा। दोनों मुक्केबाजों के बीच यह मुकाबला सउदी अरब के जेद्दाह में किंग अब्दुल्लाह स्टेडियम में 12 जुलाई को खेला जाएगा। ब्रिटिश मुक्केबाज आमिर ने अपनी बहुप्रतीक्षित बाउट को लेकर कहा, ‘यह बेहद महत्वपूर्ण और दिलचस्प मुकाबला होेगा और मैं इस मुकाबले के लिए पूरी तरह से तैयार हूं। मैंने इस मुकाबले के लिए कड़ी मेहनत की है और मुझे उम्मीद है कि मैं इसमें अच्छा प्रदर्शन करुंगा।' अपने प्रतिद्वंद्वी गोयाट के बारे में उन्होंने कहा, ‘गोयाट अच्छे मुक्केबाज हैं, मैंने उनके मुकाबले देखे हैं और मैं उन्हें हल्के में नहीं ले रहा हूं, लेकिन मेरी तैयारी पूरी है और मैं इस मुकाबले के लिए बेहद उत्सुक हूं।'

आमिर ने कहा, ‘एसबीएल में भारत के मुक्केबाज के साथ मुकाबला होना मेरे लिए थोड़ी चुनौती है। मैंने इस मुकाबले के लिए काफी तैयारियां की है। कोई भी मुकाबला आसान नहीं होता, किसी भी मुकाबले के लिए आपको अच्छी तैयारी रखनी होती है। रिंग में एक छोटी सी गलती भी बहुत भारी पड़ सकती है, और आपको मुकाबले हरा सकती है, इसलिए आपको मुकाबले में बेहद ध्यान से और संतुलित होकर खेलना पड़ता है और कोई भी मुक्केबाज रिंग में हारने के लिए नहीं उतरता।' उन्होंने कहा, ‘मैं अपनी जीत के प्रति आश्वत हूं, मुझे भरोसा है कि मैं यह मुकाबला जीत सकता हूं क्योंकि मैंने इसके लिए काफी तैयारी की है और मैं अपने फॉर्म को देखते हुए जीत को लेकर आश्वस्त हूं।'

पाकिस्तान मूल के ब्रिटिश मुक्केबाज आमिर ने कहा कि उन्हें भारत में अपने घर जैसा लगता है और मोहम्मद अली को वह अपना हीरो मानते हैं। उन्होंने कहा कि वह चाहते कि भारत और पाकिस्तान के बीच शांति रहनी चाहिए और यह दोनों देशों के लिए जरुरी भी है। ब्रिटिश मुक्केबाज़ आमिर दो बार के विश्व चैंपियन भी रह चुके हैं। इस बीच भारत के मुक्केबाज गोयाट ने कहा कि उन्होंने भी इस मुकाबले के लिए काफी तैयारियां की है और वह मुकाबले के लिए पूरी तरह फिट हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने पिछले महीने अप्रैल में कनाडा में छह राउंड का मुकाबला खेला था और विजयी रहा था। मुझे लगता है कि हम दोनों की बराबर की फिटनेस है और जितनी तैयारियां मैंने की और उतनी ट्रेनिंग उन्होंने ने भी की होगी। इसलिए दोनों के बीच बराबरी का मुकाबला है।' 

.
.
.
.
.