Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : पूर्व भारतीय बल्लेबाज सुरेश रैना ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग 2021 में कमेंट्री के दौरान एक अनुचित तुलना करके शायद खुद के ही पैर पर कुल्हाड़ी मार ली है। चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के बल्लेबाज ने कथित तौर पर 'चेन्नई संस्कृति' की तुलना अपने 'ब्राह्मण' होने से की। रैना सोमवार को लाइका कोवई किंग्स और सलेम स्पार्टन्स के बीच तमिलनाडु प्रीमियर लीग मुकाबले की कमेंट्री कर रहे थे। 

रैना से टीएनपीएल सीजन 5 के शुरुआती मैच के दौरान दक्षिण भारतीय संस्कृति को अपनाने के बारे में पूछा गया था। इस पर उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि मैं भी ब्राह्मण हूं। मैं 2004 से चेन्नई में खेल रहा हूं, मुझे यहां की संस्कृति से प्यार है। मैं अपने साथियों से प्यार करता हूं। मैंने अनिरुद्ध श्रीकांत, बद्री (एस बद्रीनाथ), बाला भाई (एल बालाजी) के साथ खेला है। सीएसके में हमारा प्रशासन अच्छा है और हमारे पास खुद को तलाशने का लाइसेंस है। मुझे वहां की संस्कृति पसंद है और मैं भाग्यशाली हूं कि मैं सीएसके का हिस्सा हूं। 

रैना के मैं भी ब्राह्मण हूं पर लोग उनके खिलाफ ट्वीटर लिख रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, ऐसा लगता है कि आपने कभी वास्तविक चेन्नई संस्कृति का अनुभव नहीं किया है, हालांकि आप चेन्नई टीम के लिए कई वर्षों से खेल रहे हैं। एक अन्य यूजर ने लिखा, वीडियो देखा, कभी रैना को मैं बहुत पसंद करता था और अब दुखी हूं कि वह कितना अज्ञानी हूं या  इतने दिनों से छुपा रहा है। एक और यूजर ने इस पर लिखा, क्या बात है सुरेश रैना सर.. आपको उस शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इस दौरान कई यूजर्स ने रैना का साथ भी दिया है। देखें लोगों के ट्वीट्स - 

.
.
.
.
.