Sports

नई दिल्ली : ओलम्पिक कांस्य विजेता पीवी सिंधू ने आसान जीत और विश्व चैंपियनशिप के कांस्य विजेता लक्ष्य सेन ने संघर्षपूर्ण जीत के साथ शुक्रवार को इंडिया ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन 2022, एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर टूर्नामेंट का हिस्सा है और इस साल इसका आयोजन केडी जाधव इंडोर स्टेडियम में हो रहा है। 

महिला वर्ग में शीर्ष वरीयता प्राप्त सिंधू ने एकतरफा अंदाज में 36 मिनट में 21-7, 21-18 से पराजित किया जबकि तीसरी सीड लक्ष्य ने पहला गेम हारने के बाद शानदार वापसी करते हुए आठवीं सीड एचएस प्रणय को एक घंटे में 14-21, 21-9, 21-14 से हराया और अंतिम चार में पहुंच गए। सिंधू का सेमीफाइनल में छठी सीड थाईलैंड की सुपनिडा कतेथोंग से मुकाबला होगा जिनके खिलाफ सिंधू का 1-0 का रिकॉर्ड है। सिंधू ने पिछले साल नवम्बर में कतेथोंग को इंडोनेशिया मास्टर्स में हराया था। कतेथोंग को तेज बुखार के कारण सिंगापुर की जिया मिन येओ के मैच से हटने के बाद क्वाटर्र फाइनल में वाकओवर मिला था। 

सिंधू का चालिहा के खिलाफ यह पहला मुकाबला था जहां उन्हें ज्यादा चुनौती का सामना नहीं करना पड़ा। पहले गेम में सिंधू ने 11-7 के स्कोर के बाद लगातार 10 अंक लेकर यह गेम 21-7 पर समाप्त किया। दूसरे गेम में सिंधू ने 15-15 की बराबरी के बाद लगातार चार अंक लेकर 19-15 की बढ़त बना ली। ओलम्पिक पदक विजेता ने चालिहा के वापसी के प्रयासों को नाकाम करते हुए यह गेम 21-18 से जीतकर मैच निपटा दिया। 

पुरुष वर्ग में तीसरी सीड लक्ष्य ने प्रणय से पहला गेम हारने के झटके से उबरते हुए अगले दोनों गेम जीते और मैच को एक घंटे में समाप्त कर दिया। सेन बनाम प्रणय निश्चित रूप से दिन का सबसे बड़े मैचों मे से एक था। और दोनों खिलाड़ियों ने खेल के स्तर, प्रयास और आक्रामकता के मामले में देखने वालों को निराश नहीं किया। युवा खिलाड़ी सेन ने अपने ट्रेडमार्क आक्रमणकारी प्रवृत्ति के साथ शुरुआत की और बहुत जल्द ही शुरुआती बढ़त ले ली। लेकिन प्रणय ने धीरे-धीरे अपने खेल का स्तर उठाया। 

उनके डाउन द लाइन स्मैश ने सेन के गेम प्लान को नुकसान पहुंचाया और तीसरे सीड सेन गलतियां करने लगे। एक समय स्कोर 13-13 था और इस समय तक दोनों के बीच अंतर पैदा करने वाली कोई बात नहीं थी। बाद में हालांकि प्रणय ने अगले नौ में से आठ अंक लेकर गेम अपने नाम किया। 

.
.
.
.
.