Sports

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को पिछले साल वनडे विश्व कप के बाद ही संन्यास ले लेना चाहिए था और वह नहीं जानते कि इस पूर्व भारतीय कप्तान ने यह फैसला इतने लंबे समय तक क्यों लटकाए रखा है। अख्तर ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि 38 वर्षीय धोनी को शानदार विदाई दी जाएगी भले ही अभी यह पता नहीं कि खेल कब शुरू हो पाएंगे। 

महेंद्र सिंह धोनी कब कहेंगे क्रिकेट को अलविदा

PunjabKesari, MS Dhoni photos, MS Dhoni images, MS Dhoni pic
दरअसल, अख्तर ने इस्लामाबाद से कहा, ‘इस खिलाड़ी ने अपनी पूरी क्षमता से क्रिकेट की सेवा की है। उन्हें पूरे सम्मान के साथ क्रिकेट को अलविदा कहना चाहिए। मैं नहीं जानता कि उन्होंने इसे इतना लंबा क्यों खींचा। उन्हें विश्व कप के बाद ही संन्यास ले लेना चाहिए था।' उन्होंने कहा, ‘अगर मैं उसकी जगह होता तो मैं संन्यास ले चुका होता। मैं छोटे प्रारूपों में तीन-चार साल और खेल सकता था लेकिन मैंने (विश्व कप 2011 के बाद) संन्यास ले लिया क्योंकि मैं खेल को शत प्रतिशत नहीं दे पा रहा था। इसलिए फैसले के लिए इंतजार क्यों करो।'  

शोएब अख्तर का भारतीय टीम को लेकर बयान

PunjabKesari, MS Dhoni photos, MS Dhoni images, MS Dhoni pic
अख्तर ने आगे कहा, ‘उन्हें या तो विश्व कप के विदाई श्रृंखला में खेलना चाहिए था और शानदार अंदाज में क्रिकेट को अलविदा कहना चाहिए था।' भारतीय टीम 2013 चैंपियन्स ट्राफी के बाद कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीत पायी और अख्तर का मानना है कि विराट कोहली की टीम को मध्यक्रम में मैच विजेताओं की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘टूर्नामेंट जीतना अलग बात है और शीर्ष पर बने रहना अलग। भारत अब भी टेस्ट क्रिकेट की नंबर एक टीम है और सीमित ओवरों में भी शीर्ष टीमों में शामिल है। इसलिए केवल आईसीसी टूर्नामेंटों में प्रदर्शन के आधार पर हमें आकलन नहीं करना चाहिए।' 

महेंद्र सिंह धोनी टी20 विश्व कप में खेलने की संभावना

PunjabKesari, MS Dhoni photos, MS Dhoni images, MS Dhoni pic
गौरतलब है कि धोनी ने पिछले साल जुलाई में विश्व कप सेमीफाइनल के बाद कोई प्रतिस्पर्धी मैच नहीं खेला है। वह आईपीएल की तैयारियों में जुटे थे लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण अब इस टूर्नामेंट पर अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं। अगर वह आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करते तो उनकी अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप में खेलने की संभावना बनी रहती। अख्तर का मानना है कि धोनी अब अधर में लटके हैं लेकिन विपरीत परिस्थितियों के बावजूद वह शानदार विदाई के हकदार हैं।

.
.
.
.
.