Sports

माले : करिश्माई कप्तान सुनील छेत्री ने शनिवार को कहा कि दक्षिण एशिया की अन्य टीमों से भारत के थोड़ा बेहतर होने के बावजूद मौजूदा सैफ चैंपियनशिप में सभी प्रतिद्वंद्वी कड़े हैं और उनकी टीम प्रत्येक मैच को जंग की तरह लेगी। अब तक 12 में से सात बार क्षेत्रीय फुटबॉल टूर्नामेंट का खिताब जीतने वाला भारत अपने अभियान की शुरुआत सोमवार को बांग्लादेश के खिलाफ करेगा। पांच टीमों के टूर्नामेंट की शुरुआत शुक्रवार को हुई जिसमें नेपाल और बांग्लादेश ने अपने शुरुआती मुकाबलों में क्रमश: मालदीव और श्रीलंका को 1-0 के समान अंतर से हराया।

छेत्री ने कहा कि प्रत्येक मुकाबले कड़े होंगे। हमारे थोड़ा बेहतर होने के बावजूद प्रत्येक मैच जंग की तरह होगा। हमें अंतिम मिनट तक संघर्ष करना होगा। हम 90 प्रतिशत क्षमता के साथ नहीं खेल सकते। कप्तान ने हालांकि स्वीकार किया कि उनकी टीम ने पिछले महीने काठमांडू में नेपाल के खिलाफ दो अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैचों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं किया। भारत ने एक मुकाबला ड्रॉ खेला जबकि दूसरा जीता। अगर हम नेपाल के खिलाफ दो मैचों की बात करें तो ऐसे विभाग हैं जिनमें सुधार की गुंजाइश है और मुख्य कोच ने हमें इस बारे में बता दिया है। हम बेहतर कर सकते थे।

छेत्री ने कहा कि बांग्लादेश ने अपना कोच बदल दिया है (विश्व कप क्वालीफायर के बाद) लेकिन उनका सामना करना आसान नहीं है। पिछले तीन-चार महीने में हमने उनके खिलाफ जो दो मैच खेले हैं, वे काफी कड़े मुकाबले थे। क्षेत्र की सभी टीमों में सुधार हुआ है। इसलिए हम एक बार में एक मैच पर ध्यान दे रहे हैं। अभी हम सिर्फ बांग्लादेश के खिलाफ मुकाबले के बारे में सोच रहे हैं, हम फाइनल के बारे में नहीं सोच रहे। मुख्य कोच इगोर स्टिमक ने कहा कि 16 अक्टूबर को खत्म हो रही सैफ चैंपियनशिप अगले साल फरवरी में शुरू होने वाले 2023 एएफसी एशियाई कप क्वालीफायर से पहले खिलाड़ियों के पास अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का अंतिम मौका है।

उन्होंने कहा कि हालात के कारण उचित शिविर नहीं लगा सके। एएफसी और सैफ को फीफा विंडो के इतर (महामारी के कारण) टूर्नामेंट के आयोजन के लिए बाध्य होना पड़ा। हमने आईएसएल क्लबों के साथ सहमति बनाई है कि वे फीफा विंडो के इतार खिलाड़ियों को रिलीज करें क्योंकि वे भी अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं। स्टिमक ने कहा कि हमारे राष्ट्रीय टीम नवंबर में खिलाड़ी नहीं मांगेगी और आईएसएल क्लबों को सितंबर और अक्टूबर में खिलाड़ियों को रिलीज करना होगा। हम आईएसएल क्लबों के आभारी हैं (सैफ चैंपियनशिप में खिलाड़ियों को रिलीज करने के लिए)। मुख्य कोच ने कहा कि टीम में बेंगलुरू एफसी और एटीके मोहन बागान के खिलाड़ियों की मौजूदगी फायदे की स्थिति है क्योंकि वे हाल में एएफसी कप के दौरान यहां खेले हैं। 

.
.
.
.
.