Sports

खेल डैस्क : ऋषभ पंत का इंगलैंड के खिलाफ रन बनाना जारी है। बर्मिंघम के मैदान पर इंगलैंड के खिलाफ खेले जा रहे 5वें टेस्ट में जब टीम इंडिया 98 रन पर 5 विकेट गंवा चुकी थी तब पंत ने मोर्चा संभाला और जडेजा के साथ मिलकर टीम इंडिया का स्कोर 300 पार ले गए। पंत ने इस दौरान 89 गेंदों पर अपना तेजतर्रार शतक पूरा किया। पंत ने जब शतक पूरा किया तो भारतीय ड्रेसिंग रूम तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठा। लेकिन इस दौरान सबकी नजरें को राहुल द्रविड़ पर भी गई। जहां टीम इंडिया के बाकी खिलाड़ी चीयर्स करते दिखे तो वहीं, द्रविड़ को तो झूमते हुए देखा गया। वह इतना जोश में थे कि कांमेंटेटर भी उनकी बात करते दिखे। 


राहुल द्रविड़ के लिए वैसे भी यह टेस्ट काफी खास है। भारत को इंगलैंड में आखिरी बार टेस्ट सीरीज जितवाने का श्रेय राहुल द्रविड़ को ही जाता था। 2007 में भारत ने जहां द्रविड़ की कप्तानी में ही सीरीज जीती थी। अभी भी भारत के पास यह सीरीज जीतने का मौका है। अगर बर्मिंघम टेस्ट ड्रा भी रहता है तब भी भारत यह सीरीज 2-1 से जीत जाएगा। यह बतौर कोच द्रविड़ के लिए बड़ी उपलब्धि रहेगी। 


मैच की बात करें तो भारतीय टीम के लिए पंत उम्दा पारी खेलने में सफल रहे। पंत की यह पारी खास है कि क्योंकि हालिया परफार्मेंस के कारण वह लगातार निंदा का शिकार हो रहे थे। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच टी-20 मैचों की सीरीज में उन्हें कप्तानी सौंपी गई थी। यह सीरीज भले ही बराबरी पर छूटी लेकिन पंत के कप्तानी दौरान लिए गए फैसलों की खूब निंदा हुई थी। 

.
.
.
.
.