Sports

पुणे: भारत की चुनौती की अगुआई कर रहे प्रजनेश गुणेश्वरन और रामकुमार रामनाथन को सोमवार से शुरू हो रहे टाटा ओपन महाराष्ट्र टेनिस टूर्नामेंट के मुख्य ड्राॅ में अपने से बेहतर रैंकिंग वाले खिलाडिय़ों के सामने बेहतर प्रदर्शन करना होगा। विंबलडन उप विजेता केविन एंडरसन को टूर्नामेंट में खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। प्रजनेश 2018 के शानदार प्रदर्शन को जारी रखना चाहते हैं जबकि रामकुमार अपने प्रदर्शन में सुधार करना चाहेंगे।
PunjabKesari
भारत के दो शहरों में हुए इस एटीपी 250 टूर्नामेंट के इतिहास में कभी कोई घरेलू खिलाड़ी एकल वर्ग का खिताब नहीं जीत पाया है। वर्ष 2009 में चेन्नई में सोमदेव देववर्मन का उप उविजेता बनना मेजबान देश का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। प्रजनेश और रामकुमार से इतिहास रचने की उम्मीद करना गलत होगा लेकिन इन दोनों खिलाडिय़ों में शीर्ष खिलाडिय़ों को चुनौती देने की क्षमता है। बायें हाथ के 29 साल के खिलाड़ी प्रजनेश अपनी चुनौती की शुरुआत अमेरिका के दुनिया के 103वें नंबर के खिलाड़ी माइकल मोह के खिलाफ करेंगे जबकि रामकुमार को पहले दौर में स्पेन के दुनिया के 97वें नंबर के खिलाड़ी मार्सेल ग्रेनोलर्स का सामना करना है।
PunjabKesari
स्थानीय खिलाड़ी अर्जुन काधे को पहले दौर में दुनिया के 94वें नंबर के खिलाड़ी र्सिबया के लास्लो जेरे से भिडऩा है। क्रोएशिया के मारिन सिलिच टूर्नामेंट से हट गए हैं। दुनिया के छठे नंबर के खिलाड़ी और शीर्ष वरीय एंडरसन टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले शीर्ष खिलाड़ी हैं। एंडरसन की शुरुआती राह आसान होने की उम्मीद है लेकिन सेमीफाइनल में उन्हें गत चैंपियन जाइल्स सिमोन का सामना करना पड़ सकता है। युगल में रोहन बोपन्ना और दिविज शरण पहली बार जोड़ी बनाकर खेलेंगे। इन दोनों ने तोक्यो ओलंपिक 2020 को ध्यान में रखते हुए जोड़ी बनाई है। अनुभवी लिएंडर पेस इस टूर्नामेंट में मैक्सिको के मिगुएल एंजेल रेयेस वारेला के साथ उतरेंगे जबकि जीवन नेदुनचेझियान ने अमेरिका के निकोलस मुनरो के साथ जोड़ी बनाई है। रामकुमार और पूरव राजा तथा काधे और एन श्रीराम बालाजी की जोड़ी को वाइल्ड कार्ड दिया गया है।

.
.
.
.
.