Sports

नयी दिल्ली : हॉकी के प्रसिद्ध सांख्यिकीविद और इतिहासकार बाबूलाल गोवर्धन जोशी का मंगलवार को कोविड-19 बीमारी से संबंधित जटिलताओं के कारण निधन हो गया। जोशी 67 वर्ष के थे। उनके निधन पर हॉकी इंडिया ने शेक जताया है। जोशी का निधन भोपाल में हुआ। उनके परिवार में पत्नी कृष्णा और दो बेटे श्रवण एवं नीरज हैं। हॉकी के इतिहासकार माने जाने वाले जोशी मध्य प्रदेश के जल संसाधन विभाग में इंजीनियर के तौर पर काम करते थे।

उन्हें इस खेल से बेहद ही लगाव था। उन्होंने 1970 के दशक के शुरूआत में हॉकी का रिकार्ड रखना शुरू किया था और वह कई राष्ट्रीय अखबारों को आंकड़े मुहैया कराते थे। उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए, हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोबम ने कहा, ‘‘मध्य प्रदेश जल संसाधन विभाग में एक इंजीनियर के रूप में पूर्णकालिक नौकरी के बावजूद, वह आंकड़ों को बनाए रखने के अपने जुनून के लिए प्रतिबद्ध थे।

उन्होंने कहा- आधुनिक हॉकी के इतिहास में शायद ऐसा कोई खिलाड़ी नहीं है जिसके आंकड़े बीजी जोशी के पास नहीं हो। उन्होंने खिलाड़ियों के पदार्पण, गोल, गोल में मदद वगैरह के रिकॉर्ड रखे और वैश्विक हॉकी के रिकॉर्ड भी बनाए रखे। निंगोबम ने कहा- हमने आज हॉकी का एक सच्चा प्रशंसक खो दिया है। हम उनके परिवार के सदस्यों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं। हम इस मुश्किल घड़ी में उनके दुख को साझा करते हैं।

.
.
.
.
.