Sports

नई दिल्ली- हॉकी इंडिया के नए अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने हाई परफॉर्मेंस निदेशक डेविड इयान जॉन को चयन समिति से हटा दिया है। एशियाई खेलों में कुछ सीनियर भारतीय खिलाड़ियों पर की गई टिप्पणी पर आपत्ति जताते हुए मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने ये फैसला लिया। लिहाजा अब डेविड इयान जॉन वर्ल्ड कप के लिए चयन समिति का हिस्सा नहीं होंगे। 

PunjabKesari

हॉकी इंडिया का नए अध्यक्ष बनने के 24 घंटे के बाद ही मुश्ताक अहमद ने हॉकी इंडिया की सीईओ एलेना नार्मन को पत्र लिखा और पूरे मामले पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि किस कदर डेविड इयान जॉन ने एशियाई खेलों के दौरान मीडिया में कुछ सीनियर भारतीय खिलाड़ियों पर टिप्पणी कर हॉकी संस्था के नियमों का उल्लंघन किया। पत्र में उन्होंने कहा कि मैं इस बात पर नाराज हूं कि जॉन ने मीडिया में कुछ खिलाड़ियों को लेकर टिप्पणी की, जबकि हॉकी इंडिया की नीति है कि सार्वजनिक तौर से खिलाड़ियों पर व्यक्तिगत कोई टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए, लेकिन इसके उलट डेविड जॉन ने तमाम प्रोटोकॉल तोड़ दिए। PunjabKesari

पत्र में आगे जिक्र करते हुए मुश्ताक अहमद ने कहा, 'डेविड जॉन को ग्रास रुट पर हॉकी के विकास, अकादमियों की पहचान और भारतीय कोचों के लिए कोचिंग कार्यक्रम तैयार करने के उद्देश्य से रखा गया था। डेविड जॉन की इस तरह की टिप्पणी से ऐसा लगता है कि उनकी सीनियर पुरुष टीम के कुछ खिलाड़ियों को लेकर धारणा ठीक नहीं है, इसलिए मैंने ये फैसला किया'। PunjabKesari

बता दें कि डेविड जान ने युवा ओलंपिक के लिए भारतीय दल के विदाई समारोह में कुछ सीनियर भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन की आलोचना करते हुए टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि कुछ खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। बता दें कि ऑस्ट्रेलिया की सीनियर पुरुष टीम के पूर्व फिजियोलॉजिस्ट रहे डेविड जॉन साल 2016 में हॉकी इंडिया के हाई परफॉर्मेंस निदेशक नियुक्त किए गए थे।


 

.
.
.
.
.