Sports

नई दिल्ली:  भारतीय एक दिवसीय क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज टी20 चैलेंज और महिला बिग बैश लीग की तारीखों के टकराव से विदेशी खिलाड़ियों की हताशा समझती है लेकिन उनका मानना है कि बीसीसीआई ने कोरोना वायरस महामारी के बीच असामान्य हालात में चार मैचों के टूर्नामेंट के लिए अपनी ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया। 

PunjabKesari
इस बारे में मिताली ने कहा, ‘लोग बहुत जल्दी निर्णय तक पहुंच जाते हैं। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह और आईपीएल संचालन परिषद के प्रमुख बृजेश पटेल का रवैया महिला क्रिकेट को लेकर काफी सकारात्मक रहा है।' उन्होंने कहा, ‘मेरा निजी तौर पर मानना है कि हमें चैलेंजर ट्राफी खेलने का मौका भी नहीं मिलता क्योंकि आईपीएल भी होगा या नहीं, पता नहीं था। ऐसे में ये मैच स्वागत योग्य हैं।' 

PunjabKesari
मिताली ने कहा, ‘भारत में इस समय कोई खेल गतिविधि नहीं हो रही। अभी तक हमने अभ्यास भी शुरू नहीं किया । मेरे अपने राज्य में अभी जिम खुले हैं तो मैच फिटनेस हासिल करने में समय लगेगा। बोर्ड ने हमें वह विंडो दिया है और हमें उसके अनुसार ही तैयारी करनी होगी।' उन्होंने कहा, ‘आस्ट्रेलिया को अपना कैलेंडर नहीं बदलना पड़ा है लेकिन महामारी के कारण हमें ऐसा करना पड़ा। आईपीएल अप्रैल मई में नहीं हो सका। विदेशी खिलाड़ियों को हालात समझने चाहिए।'

.
.
.
.
.