Sports

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड 'बीसीसीआई' का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) कथित यौन उत्पीडऩ के आरोपों का सामना कर रहे मुख्य कार्यकारी राहुल जौहरी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर बंटा नकार आ रहा है जिसके बाद अब इस मामले में जांच के लिए तीन सदस्यीय स्वतंत्र समिति गठित करने का फैसला किया गया है। 
PunjabKesari
'बीसीसीआई' की ओर से गुरूवार देर रात इस बाबत बयान जारी किया गया। 'सीओए' के अध्यक्ष विनोद राय ने सदस्यों के भिन्न विचारों को देखते हुए तीन सदस्यीय स्वतंत्र जांच समिति बनाने का फैसला किया है। हालांकि बोर्ड के जारी बयान से साफ है कि सीओए के सदस्य जौहरी पर कार्रवाई करने को लेकर बंटे हुए हैं।
PunjabKesari
'सीओए' की महिला सदस्य और पूर्व महिला क्रिकेट कप्तान डायना इडुलजी जौहरी पर यौन उत्पीडऩ के आरोपों को लेकर काफी सख्त हैं और उन्होंने जौहरी के करार को रद्द करने या उन्हें पद से इस्तीफा देने की सिफारिश की है। 'बीसीसीआई' ने बताया कि जौहरी पर आरोपों की जांच को लेकर बनाई गई तीन सदस्यीय समिति की अध्यक्षता इलाहाबाद उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश राकेश शर्मा करेंगे जिसमें केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के पूर्व निदेशक पीसी शर्मा और दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष बरखा सिंह पैनल में अन्य सदस्य होंगे। 

.
.
.
.
.