Sports

पेरिस : रोलां गैरां पर खेले जा रहे फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के एक मैच में फिक्सिंग के आरोपों की पेरिस पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। फ्रांसीसी अधिकारियों ने कहा कि सट्टेबाजी और मैच फिक्सिंग की जांच में विशेषज्ञता रखने वाले अधिकारी यह जांच कर रहे हैं। ये जांचकर्ता इससे पहले पेशेवर टेनिस में निचले स्तर पर मैच फिक्सिंग की बेल्जियम के अधिकारियों के साथ मिलकर जांच कर चुके हैं। 

लेकिन किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में मैच फिक्सिंग की जांच की संभावना बहुत कम होती है। अधिकारियों ने कहा कि यह जांच एक मैच पर केंद्रित रहेगी जिस पर संदेह व्यक्त किया गया है। उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि यह कौन सा मैच है। जर्मन समाचार पत्र डाइ वेल्ट और फ्रांस के खेल दैनिक लैक्विपी ने कहा कि 30 सितंबर को महिला युगल के पहले दौर के एक मैच में सट्टेबाजी के अनुरूप परिणाम देखने को मिले थे। 

रोलां गैरां के कोर्ट नंबर 10 पर यह मुकाबला रोमनिया की आंद्रिया मितु और पैट्रिसिया मारिया टिग तथा अमेरिका की मैडिसन ब्रेंगल और रूस की याना सिजिकोवा के बीच खेला गया था। मैच में दूसरे सेट के पांचवें गेम में सिजिकोवा की ‘लव' पर सर्विस टूट गई थी। इस दौरान उन्होंने दो बार डबल फॉल्ट किया था। डाइ वेल्ट और लैक्विपी की रिपोर्टों के अनुसार इस पांचवें गेम में रोमानियाई टीम की जीत पर पेरिस और विभिन्न देशों में मोटी धनराशि का सट्टा लगा था। 
 

.
.
.
.
.