Sports

नई दिल्लीः रिकॉर्ड छठी बार विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली लीजेंड मुक्केबाज एमसी मैरी काॅम ने अब अपनी नजरें 2020 के टोक्यो ओलंपिक पर टिका दी हैं। मैरी काॅम ने शनिवार को इतिहास बनाने के बाद आंखों में खुशी के आंसुओं के बीच कहा, ‘‘मेरा वेट वर्ग 48 किग्रा है लेकिन यह वजन वर्ग ओलंपिक में नहीं है। 

ओलंपिक में खेलने के लिए मुझे 51 किग्रा में जाना पड़ेगा जो काफी चुनौतीपूर्ण होगा। लेकिन अपने देशवासियों के समर्थन और प्यार से मैं 2020 के टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की उम्मीद रखती हूं।’’  मैरी ने 2012 के लंदन ओलंपिक में 51 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता था। 
Mary Com image

35 वर्षीय मैरी ने कहा, ‘‘मुझे आज भी इस बात का अफसोस है कि मैं 2016 के रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई थी। लेकिन मैं अगले ओलंपिक में खेलने की उम्मीद रखती हूं। मैं 48 किग्रा में आसानी से स्वर्ण पदक जीत सकती हूं लेकिन 51 किग्रा में यह चुनौतीपूर्ण होगा क्योंकि अन्य मुक्केबाजों को लंबाई का फायदा मिलेगा।’’  

मणिपुर की मुक्केबाज ने कहा, ‘‘मैं अपने सभी प्रशंसकों का धन्यवाद करना चाहती हूं जिन्होंने हमेशा मेरा समर्थन किया और जो आज यहां मेरे लिए आए थे। मैं इस समय कुछ भावुक हूं। मैं अपनी साथी मुक्केबाजों का भी धन्यवाद करना चाहती हूं जिन्होंने लगातार मेरा हौसला बढ़ाया। मेरे पास सबको स्वर्ण के सिवा देने के लिए कुछ और नहीं है।’’

.
.
.
.
.