Sports

जालन्धर : आईपीएल-11 के तहत दूसरे दिन पंजाब इलैवन और दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम मोहाली क्रिकेट स्टेडियम में आमने-सामने हैं। पंजाब की टीम आईपीएल के इस सीजन के अपने पहले ही मैच में एक अजीब रिकॉर्ड भी बना दिया है। यह रिकॉर्ड पंजाब टीम के कप्तान से जुड़ा हुआ है। 2008 में आईपीएल की शुरुआत के बाद से पंजाब की टीम ने अब तक 10 कप्तानों को आजमा लिया है।

2008 में जब आईपीएल फ्रैंचाइजी का निर्माण हुआ था तब पंजाब फै्रंचाइजी ने युवराज सिंह को कैप्टन बनाया था। पहले सीजन में पंजाब का प्रदर्शन अच्छा न होने पर टीम की कमान श्रीलंका के दिग्गज बल्लेबाज महेला जयवद्र्धने को सौंप दी गई। जयवद्र्धने ने लगातार दो साल पंजाब की टीम को लीड किया। इसके बाद 2011 में पंजाब को एडम गिलक्रिस्ट के रूप में नया कप्तान मिला। 2012 में डेविड हसी ने उन्हें रिप्लेस किया। इसके बाद 2013 में जॉर्ज बैली, 2014 में वीरेंद्र सहवाग, 2015 में डेविड मिलर, 2016 में मुरली विजय, 2017 में ग्लेन मैक्सवेल तो इस बार 2018 सीजन के लिए रविचंद्रन अश्विन को कप्तानी सौंपी गई है।

धोनी है इस रिकॉर्ड से बिल्कुल जुदा
एक तरफ जहां पंजाब टीम लगभग हर साल अपना कप्तान बदल रही है। वहीं, दूसरी ओर महेंद्र सिंह धोनी इस रिकॉर्ड के बिल्कुल ऊलट बैठे हुए हैं। धोनी के नाम पर किसी भी एक फ्रैंचाइजी में लगातार नौ बार कप्तान रहने का रिकॉर्ड है। बीच में जब चेन्नई सुपर किंग्स दो साल के लिए सस्पेंड हो गई थी। लेकिन जब चेन्नई दोबारा लौटी तो भी महेंद्र सिंह धोनी को ही कप्तान बनाया गया। ऐसे यह अपने आप आईपीएल के अनोखे रिकॉर्ड में शामिल होता है।

.
.
.
.
.