Sports

डबलिन : आयरलैंड के दिग्गज ऑल-राउंडर केविन ओ‘ब्रायन ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की। आयरलैंड में क्रिकेट की रूपरेखा बदलने वाले ओ‘ब्रायन ने 2006 में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। आयरलैंड के सह-सदस्य से टेस्ट मैच टीम बनने के सफर में ओ‘ब्रायन का किरदार बेहद अहम रहा था। आयरिश दिग्गज ने अपने दो दशक के करियर में कई रिकॉडर् अपने नाम किए। 

ओ‘ब्रायन एकदिवसीय मैचों में आयरलैंड के लिये सर्वाधिक विकेट (114) लेने वाले गेंदबाज हैं। इसके अलावा आईसीसी पुरुष विश्व कप में सबसे तेज शतक जड़ने का रिकॉडर् भी उन्हीं के नाम है। ओ‘ब्रायन ने विश्व कप 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ 327 रन का पीछा करते हुए 50 गेंदों में अपना शतक पूरा किया था। उन्होंने इस पारी में 13 चौके और छह गगनचुंबी छक्के जड़ते हुए 63 गेंदों पर 113 रन बनाए थे और अपनी टीम को ऐतिहासिक विश्व कप जीत दिलायी थी। 

ओ‘ब्रायन टेस्ट क्रिकेट में आयरलैंड के पहले और एकलौते शतकवीर भी हैं। उन्होंने 14 मई 2018 को पाकिस्तान के खिलाफ डबलिन में खेले गये टेस्ट मैच में 118 रन की पारी खेली थी। अड़तीस वर्षीय ओ‘ब्रायन अपने सुसज्जित करियर को अलविदा कहते हुए पहले ही कोचिंग की ओर बढ़ गये हैं। वह इस समय एस्टोनिया के परामर्शदाता की भूमिका निभा रहे हैं, जो टी20 विश्व कप 2024 के क्वालीफिकेशन की तैयारी कर रही है। 

.
.
.
.
.