Sports

लीड्स : इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने सोमवार को कहा कि वह यॉर्कशर टीम के पूर्व साथी खिलाड़ी अजीम रफीक के क्रिकेट क्लब में ‘संस्थागत नस्लवाद' का सामना करने के आरोपों से ‘दुखी' है। उन्होंने ऐसे मामलों से बचने के लिए सभी हितधारकों से अधिक जागरूकता फैलाने का आग्रह किया। इंग्लैंड अंडर-19 टीम के पूर्व कप्तान रफीक ने पिछले साल एक साक्षात्कार में कहा था कि यॉर्कशर की तरफ से 2008-2017 के बीच खेलते हुए वे खुद को बाहरी महसूस करते थे। 

क्लब ने पिछले सप्ताह एक माफीनामा जारी करते हुए कहा था कि रफीक ‘अनुचित व्यवहार का शिकार' बने थे। रूट ने कहा कि खेल में नस्लवाद को दूर करने के लिए अभी बहुत काम करना बाकी है। उन्होंने कहा कि मैं वास्तव में उस रिपोर्ट पर बहुत अधिक अटकलें या टिप्पणी नहीं कर सकता जो मैंने नहीं देखी है, लेकिन टीम के पूर्व साथी और दोस्त के रूप में उसे आहत होते देखना मेरे लिए मुश्किल है। मुझे लगता है कि किसी भी चीज से अधिक, यह दर्शाता है कि खेल के रूप में हमें अभी भी बहुत काम करना है। 

.
.
.
.
.