Sports

बेंगलुरूः शानदार फार्म में चल रहे श्रेयस अय्यर को इंग्लैंड दौरे पर तीन देशों की एकदिवसीय श्रृंखला में भाग लेने वाली भारत ए टीम का आज कप्तान चुना गया है जबकि करण नायर को चार दिवसीय मैचों के लिए यह जिम्मेदारी दी गई है।       इन दोनों टीमों में वैसे खिलाडिय़ों को मौका दिया गया हैं जिन्होंने पिछले दो सत्रों में राज्य की टीमों और आईपीएल फ्रेंचाइजियों के अच्छा प्रदर्शन किया है।       

भारत ए टीम का इंग्लैंड दौरा 22 जून से खेले जाने वाले त्रिकोणीय एक दिवसीय श्रृंखला से शुरू होगा। इस श्रृंखला में भारत के अलावा इंग्लैंड लायन्स ( ए टीम ) और वेस्टइंडीज ए की टीमें भाग ले रही हैं। भारत ए टीम इंग्लैंड ए के खिलाफ चार दिवसीय मैच खेलने के अलावा काउंटी टीमों के खिलाफ दो मैच खेलेगी। यह मैच तीन दिवसीय होंगे। उम्मीद के मुताबिक पृथ्वी शॉ, शुभमान गिल और संजू सैमसन जैसे खिलाडिय़ों को कोच राहुल द्रविड़ की निगरानी में खेलने वाली ए टीम के लिए चुना गया है। राज्य और आईपीएल टीमों के लिए शानदार प्रदर्शन करने के बाद एकदिवसीय टीम में शॉ, ऋषभ पंत और सैमसन का चयन भी उम्मीद के अनुरूप है।       

कप्तान श्रेयस अय्यर के अलावा एकदिवसीय टीम में बल्लेबाजी की बागडोर शॉ , मयंक अग्रवाल , सैमसन , पंत और विजय शंकर पर होगी जबकि तेज गेंदबाजी की कमान शारदुल ठाकुर और दीपक चाहर संभालेंगे स्पिन आक्रमण की अगुवाई ऑफ स्पिनर के . गौतम और बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल करेंगे। टेस्ट टीम में बल्लेबाजी में नायर का साथ कर्नाटक के युवा प्रतिभा रविकुमार समर्थ और मयंक अग्रवाल, पश्चिम बंगाल के अभिमन्यु ईश्वरन और मुंबई के शॉ देंगे। गेंदबाजी की जिम्मेदारी शाहबाज नदीम, अंकित राजपूत, मोहम्मद सिराज, नवदीप सैनी और रजनीश गुरबानी के हाथों में होगी।       

भारत ए टीम त्रिकोणीय श्रृंखला के लिए :      
श्रेयस अय्यर ( कप्तान ), पृथ्वी शॉ, मयंक अग्रवाल, शुभमान गिल, हनुमा विहारी, संजू सैमसन, दीपक हुड्डा, ऋषभ पंत, विजय शंकर, के.गौतम, अक्षर पटेल, कृणाल पंड्या, प्रसिद्ध कृष्ण, दीपक चाहर, खलील अहमद, शारदुल ठाकुर।       

भारत ए की टीम चार दिवसीय मैच के लिए :      
करुण नायर ( कप्तान ), आर . समर्थ, मयंक अग्रवाल, अभिमन्यु ईश्वरन, पृथ्वी शॉ , हनुमा विहारी, अंकित बावने , विजय शंकर, के . एस . भारत, जयंत यादव, शाहबाज नदीम, अंकित राजपूत, मोहम्मद सिराज, नवदीप सैनी, रजनीश गुरबानी।       
 

.
.
.
.
.