Sports

 

लुसाने : आईओसी ने बुधवार को विवादों से घिरे मुक्केबाजी संघ एआईबीए से ओलंपिक दर्जा छीन लिया और अब 2020 तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाइंग और फाइनल टूर्नामेंट का आयोजन करेगा। ओलंपिक जांच पैनल के चेयरमैन नेनाद लालोविच ने कहा कि एआईबीए ने आईओसी और इसके अमेरिकी हितधारकों के लिए ‘बहुत गंभीर प्रतिष्ठा संबंधित, कानूनी और वित्तीय जोखिम' खड़े कर दिए।

एआईबीए चुनाव में अध्यक्ष गाफूर राखिमोव के चुने जाने के बाद पिछले साल आईओसी को मुक्केबाजी के संचालन, कर्जे और ओलंपिक बाउट की प्रमाणिकता की जांच के लिए बाध्य कर दिया। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के सदस्यों ने पिछले महीने कार्यकारी बोर्ड की सिफारिशों का समर्थन करते हुए एआईबीए का ओलंपिक दर्जा छीनने के हक में मत दिया।

एआईबीए ने कहा था कि वह दीवालिया होने की कगार पर है और इस पर 17 लाख डाॅलर के करीब जुर्माना है। इसे भविष्य में तोक्यो राजस्व से भी हटा दिया गया है और रूस में होने वाली पुरूषों और महिलाओं की 2019 विश्व चैम्पियनशिप अब ओलंपिक क्वालीफायर भी नहीं है। एआईबीए की आपात बैठक जिनीवा में होगी जिसमें आईओसी का दल शिरकत करेगा। 

 

.
.
.
.
.