Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय महिला हॉकी टीम का ओलंपिक में मेडल जीतने का सपना टूट गया है। ब्रॉन्ज मेडल के लिए ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ खेले गए मैच में भारतीय महिला हॉकी टीम को 4-3 से हार का सामना करना पड़ा है। भारतीय टीम को चौथे क्वार्टर में खराब डिफेंस के कारण परेशानी झेलनी पड़ी। हालांकि टीम इंडिया के पास बराबरी करने का एक सुनहरी मौका था लेकिन ब्रिटेन के प्लेयर्स ने इसे चकनाचूर करते हुए जीत अपने नाम की और पदक पर कब्जा किया।

PunjabKesari

पहला क्वार्टर 

पहले क्वार्टर में दोनों टीमों ने अटैकिंग हॉकी खेली। ग्रेट ब्रिटेन ने दूसरे मिनट में ही पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया लेकिन भारत ने अच्छा बचाव करते हुए गोल नहीं होने दिया। इसके बाद भारत ने वापसी की और ब्रिटेन पर आक्रमक रणनीति अपनाई। इसके बाद ब्रिटेन ने 10वें मिनट में दूसरा पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया है। लेकिन भारत ने इसे को भी नाकाम कर दिया।  गोलकीपर सविता पूनिया ने अब तक शानदार बचाव किया। पहले क्वाटर में दोनों टीमें एक भी गोल नहीं कर पाई थी और स्कोर 0-0 रहा। 

दूसरा क्वार्टर 

ब्रिटेन ने दूसरे क्वार्टर की शुरुआत 16वें मिनट में पहला गोल दाग कर की। Ellie Rayer ने फील्ड गोल किया है। गोलपोस्ट के नजदीक भारतीय डिफेंडर दीप ग्रेस इक्का की स्टिक से लगकर गेंद भारतीय गोल पोस्ट में चली गई। इसके बाद ब्रिटेन की Sarah Robertson ने 24वें मिनट में दूसरा गोल किया। उन्होंने रिवर्स शॉट के जरिए ये गोल किया जिसके बाद ब्रिटेन 2-0 से आगे हो गया।  

हालांकि गुरजीत कौर ने टीम इंडिया की गेम में वापसी करवाते हुए दो शानदार गोल किए। उन्होंने दोनों गोल पेनल्टी कॉर्नर के जरिए किए और ये दोनों गोल 2 मिनट के अंदर किए गए थे। गुरजीत ने पहला गोल 25वें और दूसरा 26वें मिनट में किया जिससे भारत ने ब्रिटेन की बराबरी 2-2 से बराबरी की। दूसरे क्वारट में टीम इंडिया की तरफ से तीसरा गोल वंदना कटारिया ने 29वें मिनट में दागा और भारत 3-2 से आगे हो गया। 

PunjabKesari

तीसरा क्वार्टर 

तीसरे क्वार्टर में भी ब्रिटेन ने आक्रामक शुरुआत की और 32वें मिनट में ही पेनल्टी कॉर्नर हासिल कर लिया। हालांकि मोनिका ने इसपर शानदार बचाव किया और भारत की बढ़त को कायम रखा। लेकिन वेब ने 35वें मिनट में गोल कर स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया। इसके बाद भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन गुरजीत कौर गोल करने में असफल रही।  

हाफ टाइम 

पहले क्वार्टर में जहां ब्रिटेन की टीम हावी रही तो दूसरा क्वार्टर पूरी तरह से इंडिया का खेल पर कब्जा रहा। उसने इस क्वार्टर में तीन गोल किए और ब्रिटेन पर 3-2 की बढ़त बनाई। भारत की ओर से 4 मिनट में तीनों गोल किए गए जिसमें 2 गोल गुरजीत कौर और एक वंदना कटारिया ने किया। 

PunjabKesari

चौथा क्वाटर 

चौथे क्वार्टर में ब्रिटेन ने 48वें मिनट में गोल किया है और बढ़त हासिल कर ली है। टीम इंडिया को पलटवार जारी रखा लेकिन ब्रिटेन ने गोल करने का मौका नहीं दिया और अंत तक स्कोर 4-3 रहा और भारत का पदक का सपना टूट गया। 

.
.
.
.
.