Sports

नई दिल्ली : आईसीसी जल्द ही आगे के पांव की नोबाल पर टीवी अंपायर को फैसला लेने का अधिकार देगी लेकिन अभी इसे परीक्षण (ट्रायल) के तौर पर लागू किया जाएगा। आईसीसी के महाप्रबंधक (क्रिकेट संचालन) ज्योफ अलारडाइस ने यह जानकारी दी। आईसीसी अगले छह महीने में सीमित ओवरों की कुछ श्रृंखलाओं में इस नई व्यवस्था का परीक्षण करेगा और यह सफल रहता है तो फिर मैदानी अंपायर से आगे के पांव की नोबाल देने का अधिकार छिन जाएगा।
अलारडाइस ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से कहा- हां ऐसा है। तीसरे अंपायर को आगे का पांव पडऩे के कुछ सेकेंड के बाद छवि मुहैया कराई जाएगी। वह मैदानी अंपायर को बताएगा कि नोबाल की गई है। यह प्रणाली इससे पहले 2016 में इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच वनडे श्रृंखला में भी आजमायी गई थी। आईसीसी ने फिर से इसका परीक्षण करने का फैसला किया है। उसकी क्रिकेट समिति ने इसे सीमित ओवरों के अधिक से अधिक मैचों में उपयोग करने की सिफारिश की है।

.
.
.
.
.