Sports

बर्मिंघम : इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट में 146 रन बनाकर भारत को संकट से निकालने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने कहा कि उन्होंने गेंदबाजों को मानसिक तौर पर परेशान करने की कोशिश की। पंत ने कहा कि इंग्लैंड में सबसे महत्वपूर्ण है गेंदबाज की लय बिगाडऩा। ऐसा मेरा मानना है। इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स और 3 विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने पंत पर शॉर्टपिच गेंदों से हमला बोला लेकिन वह सहज होकर खेलते रहे।

Rishabh Pant, stormy innings, ENG vs IND, Team india, cricket news in hindi, sports news, ऋषभ पंत, तूफानी पारी, इंग्लैंड बनाम भारत, टीम इंडिया, क्रिकेट समाचार हिंदी में, खेल समाचार

पंत ने कहा कि मैंने एक जैसे शॉट्स नहीं खेले बल्कि विविधता लाने की कोशिश की। कई बार बाहर निकला तो कई बार बैकफुट पर खेला। मैंने क्रीज का बखूबी इस्तेमाल किया। गेंदबाज पर मानसिक दबाव बनाने की बात थी, कुछ पहले से तय नहीं था। मैंने इसी पर फोकस रखा कि गेंदबाज क्या करने वाला है। पंत ने कहा कि उन्होंने अच्छी गेंदों का सम्मान किया और अपने डिफेंस को भी मजबूत रखा।

 

यह भी पढ़ें :- प्रैक्टिस मैच में चला Deepak Hooda का जादू, अर्धशतक लगा टीम को दिलाई बड़ी जीत

 

पंत बोले- मैंने अपने डिफेंस पर काफी काम किया। मेरे कोच तारक सिन्हा सर ने मुझे बरसों पहले बताया था कि आप किसी भी गेंदबाज पर आक्रमण कर सकते हैं लेकिन डिफेंस पर उतना ही ध्यान देना जरूरी है। उन्होंने कहा कि मैं कई बार अलग तरह के शॉट खेलता हूं लेकिन गेंद को पीटा जा सकता है तो पीछे नहीं हटता।

.
.
.
.
.