Sports

नई दिल्ली : भारतीय हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड का कहना है कि टीम का अभ्यास माहौल बेहतरीन है और साल के आखिर तक खिलाड़ी सर्वश्रेष्ठ फार्म में होंगे। विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर पहुंचने के बाद भारतीय हॉकी टीम ने कोरोना वायरस महामारी के कारण 5 महीने तक अभ्यास नहीं किया। रीड ने कहा कि इस साल अंतरराष्ट्रीय स्पर्धायें नहीं होने से भविष्य भले ही अनिश्चित लग रहा हो लेकिल उनकी टीम इस साल के आखिर तक लय हासिल कर लेगी। उन्होंने कहा- कोरोना महामारी से भारत ही नहीं, पूरी दुनिया प्रभावित हुई है। हर हॉकी टीम एक ही स्थिति में है लेकिन अच्छी बात यह है कि अब हम सही रास्ते पर हैं। हमें वापसी में कुछ समय लगेगा।

रीड ने कहा- इस साल के आखिर तक हम उस फार्म में लौट आएंगे, जहां ब्रेक से पहले थे बशर्ते अभ्यास में कोई बाधा नहीं आए। उन्होंने कहा- सबसे अच्छी बात यह है कि हमारे पास अभ्यास के लिए एक जगह पर सारी सुविधायें हैं जैसी आस्ट्रेलिया के पास पर्थ में है। लॉकडाउन के दौरान पूरे समय यहीं रहे रीड ने कहा- अच्छी बात यह है कि खिलाडिय़ों ने मैदान पर खेलना शुरू कर दिया है लेकिन हम धीरे-धीरे तैयारी कर रहे हैं। कोई हड़बड़ी नहीं मचानी है।

उन्होंने कहा- हम अभी फिटनेस और कौशल पर फोकस कर रहे हैं ताकि खिलाडिय़ों के कार्यभार पर नियंत्रण रहे। फिलहाल 19 अगस्त से बेंगलुरू में शुरू हुआ शिविर 30 सितंबर तक चलेगा लेकिन कोच ने संकेत दिया कि जरूरत पडऩे पर इसे नवंबर तक बढ़ाया जा सकता है ।

उन्होंने कहा- मैं चाहूंगा कि खिलाड़ी भारतीय खेल प्राधिकरण केंद्र के भीतर ही रहे और नवंबर तक अभ्यास जारी रखें। कप्तान मनप्रीत सिंह समेत भारत के छह खिलाड़ी शिविर में लौटने के बाद हुई कोरोना जांच में पॉजिटिव पाये गए थे लेकिन अब वे उबर चुके हैं और साइ परिसर में पृथकवास में हैं।

.
.
.
.
.