Sports

बेंगलुरू : राजीव गांधी खेल रत्न से पुरस्कृत भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल का मानना है कि पुरूषों की टीम के समान मौकें मिलने से महिला हॉकी टीम के पिछले एक दशक के प्रदर्शन में सुधार हुआ है।

Hockey, Hockey news in hindi, sports news, Women Hockey Team, Rani Rampal, Indian Women Hockey Team Captan Rani Rampal

रानी ने कहा- जहां से मैंने शुरू किया था वहां कि तुलना में महिला हॉकी में अच्छे के लिए कई चीजें बदल गई हैं। जब मैंने खेलना शुरू किया, तो महिलाओं की टीम बहुत कम टूर्नामेंट खेलती थी। हम ज्यादातर राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों जैसे बड़े टूर्नामेंट में खेलते थे लेकिन अब स्थिति में काफी बदलाव हुआ है। उन्होंने कहा- हॉकी इंडिया और प्रबंधन ने यह सुनिश्चित किया कि हम पूरे साल टूर्नामेंट खेले जिससे पिछले कुछ वर्षों में हमने बेहतर प्रदर्शन किया है और इससे महिला हॉकी को लोकप्रिय बनाने में भी मदद मिली है।

रानी खेल रत्न से सम्मानित होने वाली पहली महिला हॉकी खिलाड़ी है। पुरूषों में उनसे पहले धनराज पिल्लै और सरदार सिंह को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। रानी ने कहा- पिछले एक सप्ताह से, जब से मेरे नाम की आधिकारिक तौर पर खेल रत्न पुरस्कार के लिए घोषणा की गई है, तब से मैं अपनी यात्रा के बारे में चर्चा कर रही हूं। इससे मुझे लगता है कि महिला हॉकी को पुरुष टीम के बराबर महत्व मिला है।

Hockey, Hockey news in hindi, sports news, Women Hockey Team, Rani Rampal, Indian Women Hockey Team Captan Rani Rampal

उन्होंने कहा- एक महिला खिलाड़ी को सर्वोच्च पुरस्कार मिलने से निश्चित रूप से यह दर्शाता है कि खेल सही दिशा में आगे बढ़ रहा है। मैं युवा मामलों और खेल मंत्रालय, भारतीय खेल प्राधिकरण और हॉकी इंडिया को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने हमें अपनी क्षमता दिखाने के अवसर दिए और साथ ही साथ हमारे प्रयासों को मान्यता दी।

.
.
.
.
.