Sports

नई दिल्ली : भारतीय महिला हॉकी टीम की गोलकीपर सविता पूनिया ने कहा है कि उनकी टीम को पेरिस ओलंपिक 2024 का टिकट कटाने के लिए हर हालत में अगले साल एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतना है। भारतीय महिला टीम तोक्यो ओलंपिक में ऐतिहासिक प्रदर्शन करके चौथे स्थान पर रही। सविता ने कहा कि अब टीम का लक्ष्य आने वाले टूर्नामेंटों खासकर एशियाई खेलों में अच्छा प्रदर्शन करना है ताकि ओलंपिक में पदक नहीं जीत पाने का दर्द मिटा सके।

उन्होंने कहा कि ओलिम्पिक में चौथे स्थान पर रहने के बाद पूरी दुनिया ने हमारी हौसलाअफजाई की लेकिन पदक के इतने करीब पहुंचकर खाली हाथ लौटने का दर्द खिलाड़ी ही समझ सकते हैं। हम अगले टूर्नामेंटों में अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हमारा मुख्य फोकस एशिया कप पर है जो विश्व कप क्वालीफायर भी है। उसके बाद विश्व कप और एशियाई खेल हैं। भारतीय महिला टीम ने आखिरी बार एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक 1982 में जीता था।

सविता ने कहा कि उनकी टीम इस बार स्वर्ण जीतने के इरादे से ही उतरेगी जिसने 2018 में रजत जीता था। उन्होंने कहा कि ओलिम्पिक में चौथे स्थान पर रहने के लिए भी काफी मेहनत करनी पड़ती है लेकिन हम कांस्य से चूक गए। हम एशियाई खेलों में स्वर्ण से चूक गए थे तो इस बार अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि स्वर्ण चूकने के बाद ओलिम्पिक के लिए क्वालीफाई करने में कितने पापड़ बेलने पड़े। हमारे लिए सबसे बड़ा टूर्नामेंट एशियाई खेल होंगे जिसमें स्वर्ण जीतना ही है।

.
.
.
.
.