Sports

कोलकाता (निकलेश जैन ) पहली बार ग्रांड चेस टूर का हिस्सा बने टाटा स्टील इंडिया का खिताब तो नॉर्वे के मेगनस कार्लसन आसानी से जीतकर ले गए पर इसके अलावा इस बात पर भी सबकी नजर थी की क्या भारत के विश्वनाथन आनंद लंदन में होने वाले ग्रांड चेस टूर के फ़ाइनल में पहुँच पाएंगे जिसमें सिर्फ चार खिलाड़ी ही खेल सकते है ।इस वर्ष मई से लेकर अब तक ग्रांड चेस टूर में सात टूर्नामेंट खेले गए है । सबसे पहले  कोस्ट आइवरी रपड़ी ब्लिट्ज़ से ग्रांड चेस टूर शुरू हुआ फिर क्रोशिया क्लासिकल ,पेरिस रैपिड ब्लिट्ज़ ,सेंट लुईस रैपिड ब्लिट्ज़ ,सिंकिफील्ड कप ,सुपरबेट रैपिड ब्लिट्ज़ होते हुए टाटा स्टील में इसके लीग चरण का समापन हो गया । और इन सबके प्रदर्शन के आधार पर  चाल खिलाड़ी फ़ाइनल के लिए चयनित हुए ।

PunjabKesari

नॉर्वे के मेगनस कार्लसन (67.5 अंक) ,चीन के डिंग लीरेन (43.8 अंक ) ,लेवान आरोनियन (37.5 अंक ) का खेलना तय था पर आनंद की लड़ाई चौंथे स्थान पर मेक्सिम लागरेव (36.8अंक ) और सेरगी कार्याकिन (36.5 अंक ) कोप पीछे छोड़ने की थी पर आनंद टाटा स्टील में सातवे स्थान पर रहे और महज 36 अंको पर आकर रुक गए और दरअसल आनंद सिर्फ 1 ग्रांड चेस टूर अंक से टॉप चार में जगह बनाने से चूक गए ।हालांकि आनंद को कुल 97,500 अमेरिकन डॉलर की पुरूष्कार राशि जरूर हासिल हुई 

PunjabKesari

दरअसल भारत के नंबर तीन युवा विदित गुजराती के खिलाफ ब्लिट्ज़ मे हार आनंद के लिए बड़ा झटका रही और उसके बाद नीदरलैंड के अनीश गिरि से आनंद समय में हार गए तो रही सही कसर मेगनस कार्लसन नें हराकर पूरी कर दी तो जहां आनंद शीर्ष 3 में आने के आसपास नजर आ रहे थे वह सातवे स्थान पर रहे ।

देखे आनंद और विदित के मैच का विडियो और विश्लेषण - हिन्दी चेसबेस इंडिया के सौजन्य से 

 

PunjabKesari

350000 इनामी राशि वाले ग्रांड चेस टूर का फ़ाइनल लंदन के ओलंपिया सेंटर में 2 से 8 दिसंबर के बीच खेला जाएगा । आपको बता दे की सबसे पहले राजीव गांधी खेल रत्न पाने वाले 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद 11 दिसंबर को उम्र का 50 वां पड़ाव पूरा करने जा रहे है और अभी भी वह भारत के शीर्ष शतरंज खिलाड़ी है ।

.
.
.
.
.