Sports

दुबई : अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने किंग्स इलेवन पंजाब के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पिछले कुछ मैचों में अच्छे प्रदर्शन का श्रेय केएल राहुल की कप्तानी और मुख्य कोच अनिल कुंबले के जज्बे को दिया। पंजाब लगातार पांच मैचों में हार से सबसे निचले स्थान पर था लेकिन इसके बाद उसने लगातार चार मैच जीते और अब 10 अंक लेकर पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। अभी उसे तीन और मैच खेलने हैं और उसके पास प्लेऑफ में जगह बनाने का मौका है।

गावस्कर ने कहा, ‘उन्होंने जीत का तरीका ढूंढ लिया है। टूर्नामेंट के शुरू में लगता है कि वे इसे हासिल नहीं कर पाए थे। हर बार वे जीत के करीब पहुंचकर आखिरी ओवरों में हार रहे थे। इसके बाद उन्होंने वह कुंजी ढूंढ ली जिससे वे मैच जीतने लगे।' पंजाब ने पिछले मैच में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 126 रन का सफलतापूर्वक बचाव किया। गावस्कर ने कहा, ‘पिछले मैच में 126 रन का बचाव करने के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत थी। आत्मविश्वास दिखाने की जरूरत थी और उन्होंने ऐसा किया। केएल राहुल ने उनकी बहुत अच्छी तरह से अगुवाई की।'

उन्होंने कहा, ‘राहुल कप्तानी की भूमिका में परिपक्व हुआ है। अनिल कुंबले की भूमिका को भी नजरअंदाज नहीं करेंगे। कुंबले अपने करियर में फाइटर रहा है। आपको याद होगा कि वह जबड़ा टूटने के बावजूद गेंदबाजी करने (वेस्टइंडीज के खिलाफ 2002 टेस्ट मैच में) के लिए उतरा था और यह जज्बा किंग्स इलेवन की टीम में दिख रहा है।' गावस्कर ने कहा, ‘यही वजह है कि उन्होंने मुश्किल परिस्थितियों में वापसी की और अब वे प्लेऑफ में जगह बनाने की दौड़ में हैं।' 

.
.
.
.
.