Sports

सेंट पीटर्सबर्ग : बेल्जियम के गोलकीपर थैबॉट कोर्टोइस ने कहा कि विश्व कप सैमीफाइनल में उनकी टीम की फ्रांस के हाथों हार ‘फुटबाल के लिए शर्मनाक’ है। उन्होंने डिडियर देसचैप्स की टीम की रक्षात्मक शैली की आलोचना की। सेंट्रल बैक सैमुअल उमटिटी के 51वें मिनट में हेडर से किए गोल की मदद से फ्रांस ने यह मैच 1-0 जीता और तीसरी बार विश्व कप फाइनल में जगह बनाई।
PunjabKesari
चेल्सी की तरफ से खेलने वाले गोलकीपर कोर्टोइस ने बेल्जियन टीवी चैनल आरटीबीएफ से कहा- यह हताश करने वाला मैच था। फ्रांस ने मैच खेला ही नहीं। उसने एक गोल करने के बाद अपनी पूरी ताकत गोल बचाने में लगा दी। फ्रांस के लगभग सभी खिलाड़ी टाइम खराब करने में लगे रहे। इसी चक्कर में उसके सभी 11 खिलाड़ी अपने गोल के 40 मीटर के दायरे में ही रहे।

कोर्टोइस ने कहा- उन्होंने जवाबी हमला करने की रणनीति अपनाई और काइलियान एमबापे ने इसकी जिम्मेदारी संभाली जो बहुत तेज दौड़ लगाता है। यह उनका अधिकार है। उन्होंने कहा- लेकिन हम बहुत निराश थे क्योंकि हम इसलिए नहीं हारे कि वह टीम हमसे बेहतर थी, हम ऐसी टीम से हारे जिसने कुछ भी खेल नहीं खेला केवल गोल बचाने पर पूरी ताकत लगाई। यह फुटबाल के लिए शर्मनाक है कि बेल्जियम जीत दर्ज नहीं कर पाया।

.
.
.
.
.