Sports

मेलबर्न : ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन ने अवसाद से अपने संघर्ष पर खुलकर बात करते हुए कहा कि वह 2018 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने के बावजूद अब भी अपनी मानसिक स्थिति से जूझ रहे हैं। जॉनसन ने चैनल 7 एसएएस आस्ट्रेलिया से कहा, ‘अपने पूरे करियर के दौरान मुझे इससे (अवसाद) निबटना पड़ा। मैं अब वास्तव में आगे बढ़ रहा हूं और कुछ चीजों के साथ खुद को सक्रिय रखने, अपने दिमाग को व्यस्त रखने की कोशिश कर रहा हूं।'

उन्होंने कहा, ‘क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद मुझे यह अधिक मुश्किल लगा। अचानक ही आपके पास करने के लिए कुछ खास नहीं होता। आप थोड़ा उद्देश्यहीन हो जाते हैं। 'जॉनसन ने अपने करियर में 73 टेस्ट मैचों में 313 विकेट लिए। उन्होंने 2015 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था लेकिन अगले तीन वर्षों तक इंडियन प्रीमियर लीग और बिग बैश लीग में खेलते रहे।

जॉनसन ने कहा, ‘कई बार मेरा आत्मविश्वास बहुत कम हो जाता था। मैं अब उस बदलाव के दौर में हूं जहां मैंने दो साल से क्रिकेट नहीं खेली है।' जॉनसन से पूछा गया कि क्या संन्यास के बाद की स्थिति अधिक मुश्किल है, उन्होंने कहा, ‘हां, कई बार मुझे ऐसा लगा। मुझे लगा कि मैं अवसादग्रस्त हो गया हूं लेकिन मेरा मानना है कि युवावस्था से ही अवसाद मेरे साथ जुड़ा हुआ है।' 

.
.
.
.
.