Sports

लुसाने : अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने खिलाडिय़ों के लिये खेल को अधिक सुरक्षित बनाने के प्रयास के तहत पेनल्टी कार्नर का बचाव करने वाले खिलाडिय़ों को गेंद के स्ट्राइकिंग सर्कल से बाहर जाने के बाद भी अपने सुरक्षा उपकरणों के उपयोग करने की मंजूरी दे दी है। इससे पहले पेनल्टी कार्नर का बचाव करने वाले खिलाडिय़ों को फ्लिक लिए जाने के तुरंत बाद सर्कल के अंदर अपने सुरक्षा उपकरण हटाने पड़ते थे। लेकिन एफआईएच ने अपने नियम 4.2 में बदलाव किया जो कि पेनल्टी कार्नर के लिए सुरक्षा उपकरणों को हटाने से जुड़ा है।

एफआईएच के खेल निदेशक और दो बार के ओलंपियन जॉन वायट ने बयान में कहा कि नियम 4.2 में बदलाव किया गया है। खिलाड़ी अब अपने सुरक्षा उपकरणों के साथ गेंद के साथ दौडऩा जारी रख सकते हैं, लेकिन उन्हें 23 मीटर क्षेत्र से बाहर निकलने पर उपकरण को तुरंत हटाना होगा।

वायट ने कहा कि पेनल्टी कार्नर के लिए सुरक्षा उपकरण का उपयोग करते हुए कोई भी खिलाड़ी किसी भी समय 23 मीटर क्षेत्र के बाहर नहीं खेल सकता है। इसे खिलाडिय़ों की सुरक्षा के लिये लाया गया है ताकि खिलाड़ी खेल पर अधिक ध्यान दे सकें और उन्हें दबाव की परिस्थितियों में उपकरण नहीं हटाना पड़े। उन्होंने कहा कि दिसंबर 2021 में भुवनेश्वर में एफआईएच हॉकी पुरुष जूनियर विश्व कप में इसका ‘ट्रायल’ किया गया था तथा प्रशिक्षकों, खिलाडिय़ों और अधिकारियों ने इसका समर्थन किया था।

.
.
.
.
.