Sports

किंगस्टन : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शानदार प्रदर्शन करने वाले हनुमा विहारी की तारीफ करते हुए कहा कि वह जब बल्लेबाजी करता है तो ड्रेसिंग रूम में सुकून का माहौल रहता है। पहली पारी में 111 और दूसरी पारी में नाबाद 53 रन बनाने वाले विहारी के बारे में कोहली ने कहा, ‘वह आत्मविश्वास से भरा नजर आता है और जब वह बल्लेबाजी कर रहा होता है तो ड्रेसिंग रूप में धैर्य दिखता है। वह हमेशा अपने खेल और गलतियों में सुधार के लिए तैयार रहता है।'

वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट में 257 रन की जीत के बाद स्वीकार किया कि कुछ सत्र में भारतीय टीम दबाव में थी लेकिन अच्छा क्रिकेट खेलकर आसान जीत दर्ज करने में सफल रही। भारत के 468 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज की टीम 210 रन पर ढेर हो गई। भारत की ओर से रविंद्र जडेजा और मोहम्मद शमी ने तीन-तीन जबकि इशांत शर्मा ने दो विकेट हासिल किए। जसप्रीत बुमराह को एक विकेट मिला। कोहली ने श्रृंखला में 2-0 से क्लीनस्वीप करने के बाद कहा, ‘एक बार फिर आसान जीत। हमने अच्छा क्रिकेट खेला और उस तरह के नतीजे हासिल किए जो एक टीम के रूप में महत्वपूर्ण हैं। कुछ सत्र में हम दबाव में थे।

बल्लेबाजी करते हुए कुछ समय मुश्किल स्थिति में थे लेकिन लड़कों ने शानदार प्रदर्शन किया।' उन्होंने कहा, ‘हनुमा ने शानदार बल्लेबाजी की, अजिंक्य दूसरी पारी में अच्छा खेला, मयंक पहली पारी में अच्छा खेला, इशांत का अर्धशतक यह जज्बे से भरी पारी थी। सतह को देखते हुए विहारी की पारी विश्व स्तरीय थी।' भारत का सबसे सफल टेस्ट कप्तान बनने पर कोहली ने कहा, ‘सबसे सफल टेस्ट कप्तान बनना हमारी टीम के कारण है। हमारे गेंदबाज शानदार हैं। शमी बेहतरीन है, इशांत जज्बे के साथ गेंदबाजी करता है, जडेजा लंबे स्पैल फेंक रहा है। कप्तान सिर्फ आपके नाम के आगे ‘सी' अक्षर है। यह सामूहिक प्रयास है।'' कोहली ने साथ ही वेस्टइंडीज के गेंदबाजों की तारीफ भी की। उन्होंने कहा, ‘वेस्टइंडीज की टीम समझ जाएगी कि उन्हें किन विभागों में सुधार की जरूरत है। गेंदबाजी के नजरिये से वेस्टइंडीज शानदार है। केमार रोच और जेसन होल्डर उनके शानदार गेंदबाज रहे। अगर वे पर्याप्त रन बनाने में सफल रहे तो टेस्ट क्रिेकेट में काफी खतरनाक प्रतिद्वंद्वी होंगे।' 

वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने स्वीकार किया कि उनकी टीम की बल्लेबाजी में काफी समस्या है। उन्होंने कहा, ‘बेशक हम इससे निराश हैं। किसी भी मैच में हम अपना संपूर्ण खेल नहीं दिखा पाए। बल्लेबाजी में काफी समस्या है। हमें बड़े स्कोर बनाने होंगे और मुश्किल लम्हों का डटकर सामना करना होगा।' होल्डर ने कहा, ‘यह मुश्किल सवाल है कि बल्लेबाजी की समस्याओं का समाधान कैसे किया जाए। यह व्यक्तिगत चीज है। हमारे अगले टेस्ट में अब काफी समय है इसलिए खिलाड़ियों को चिंतन करना होगा।' होल्डर हालांकि गेंदबाजी से संतुष्ट दिखे। उन्होंने कहा, ‘गेंदबाजी से संतुष्ट हूं। हम बात कर रहे थे कि इस टेस्ट सीरीज के प्रत्येक दिन हम मैदान पर गेंदबाजी कर रहे थे और हर बार हमारे गेंदबाजों ने योगदान दिया। भारतीय टीम स्तरीय है और उन्होंने हमें पछाड़ दिया।' 

.
.
.
.
.