Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय टीम की दीवार कहे जाने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड़ ने 9 साल पहले आज ही के दिन टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा था। साधारण जिंदगी जीने वाले अल्ट्रा टैलेंटेड द्रविड़ आजकल नेशनल क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में क्रिकेट संचालन निदेशक हैं और युवा क्रिकटरों को तैयार करते हैं। द्रविड़ टेस्ट क्रिकेट में एक बार भी गोल्डन डक का शिकार नहीं हुए हैं। 

द्रविड़ ने 164 टेस्ट मैचों की 286 इनिंग्स में 52.31 की औसत से 13288 ठोके हैं जिसमें उनका हाइएस्ट 270 रहा है। उन्होंने अपने टेस्ट करियर के दौरान 5 दोहरे शतक, 36 शतक और 63 अर्धशतक लगाए हैं। उन्होंने 31258 गेंदों का सामना करने के साथ ही 210 कैच भी पकड़े हैं। आइए जानते हैं द्रविड़ से जुड़े कुछ खास रिकाॅर्ड - 

1. द्रविड़ इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले सचिन के बाद दूसरे भारतीय हैं। उन्होंने खेले 509 मैचों में 45.41 की औसत से 24208 रन बनाए जिसमें 48 शतक और 146 अर्धशतक रहे। 

2. टेस्ट क्रिकेट में 286 पारियां खेलने वाले द्रविड़ एक बार भी गोल्डन डक का शिकार नहीं हुए और ये कमाल का रिकॉर्ड उनके नाम पर है। 

3. अपने टेस्ट करियर में उन्होंने 31258 गेंदों का सामना किया और क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप में वो सबसे ज्यादा गेंदें खेलने वाले खिलाड़ी हैं। 

4. टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने क्रीज पर 44152 मिनट बिताए और इस प्रारूप में क्रीज पर सबसे ज्यादा वक्त बिताने वाले खिलाड़ी हैं। 

5. स्लिप के बेहतरीन फिल्डरों में भी शुमार द्रविड़ के नाम टेस्ट क्रिकेट में विकेटकीपर के रूप में नहीं, बल्कि एक खिलाड़ी के तौर पर सबसे ज्यादा (210) कैच लेने का रिकॉर्ड दर्ज है। 

.
.
.
.
.