Sports

सिडनी : आस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों को एक समय उनके बिगड़ैल व्यवहार के लिए जाना जाता था लेकिन पिछले साल गेंद से छेड़छाड़ मामले के बाद अपनी खेल संस्कृति को साफ सुथरी बनाने की मुहिम से उनके व्यवहार में आमूलचूल परिवर्तन आया है। दरअसल क्रिकेट आस्ट्रेलिया के चेयरमैन अर्ल एडिंग्स ने कहा है कि आस्ट्रेलियाई पुरूष टीम ने 2018-19 सत्र में एक बार भी गलत हरकत नहीं की। पिछले 7 वर्षों में यह ऐसा पहला अवसर है जब टीम को ‘क्लीन शीट’ मिली है। यही नहीं इस बीच सभी तरह के स्तरों पर आचार संहिता उल्लंघन के मामलों में 74 प्रतिशत की कमी आई है।

एडिंग्स ने कहा- आस्ट्रेलियाई क्रिकेट में हर कोई इस बात से वाकिफ है कि केवल जीत ही मायने नहीं रखती बल्कि यह भी महत्वपूर्ण है कि वे खेल को कैसे खेलते हैं और खिलाडिय़ों ने वास्तव में यह भावना अपने अंदर पैदा की है। आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट में गेंद से छेड़छाड़ मामले में लिप्त रहने के लिए एक साल के लिए प्रतिबंधित किया गया था जबकि सलामी बल्लेबाज कैमरन बैनक्राफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगा था।

.
.
.
.
.