Sports

गोल्ड कोस्ट: अमित पंघाल , गौरव सोलंकी और मनीष कौशिक की तेजी से उभरती तिकड़ी आज यहां राष्ट्रमंडल खेलों की मुक्केबाजी स्पर्धाओं में फाइनल में जगह बनाने में सफल रही जबकि मुक्केबाज नमन तंवर को कांस्य से संतोष करना पड़ा। मनीष ने लाइटवेट 60 किग्रा वर्ग में उत्तरी आयरलैंड के जेम्स मैगिवर्न को 4-1 से हराकर फाइनल में जगह बनाई।

एशियाई खेलों की परीक्षण प्रतियोगिता में स्वर्ण जीतने वाले 22 वर्षीय खिलाड़ी मैकगिवर्न के साफ साफ प्रहारों के कारण पिछड़ रहे थे लेकिन उन्होंने अपनी तरह से शानदार प्रदर्शन करते हुए मुकाबला अपने नाम कर लिया। मनीष ने मैच के बाद कहा , ‘‘ मैं ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ( फाइनल में पहुंचने वाले हैरी गरसाइड ) से भिडूंगा। कोच ने मुझे मेरे विपक्षी की गलतियों पर ध्यान देने और अच्छा प्रदर्शन करने को कहा है। ’’ हालांकि उनके विपक्षी निर्णायकों के फैसले से नाराज दिखे और रिंग से निकलने के बाद कहा , ‘‘ मेरा कांस्य पदक ऑस्ट्रेलिया में ही रह सकता है , मैं कांस्य पदक के लिए नहीं खेलता। ’’

फ्लाईवेट 52 किग्रा वर्ग में गौरव धीमी शुरूआत से उबरते हुए श्रीलंका के एम ईशान बंडारा को हराने में सफल रहा। वह पहले राउंड में पिछड़ रहे थे लेकिन वापसी करने में सफल रहे। उन्होंने कहा , ‘‘ कई बार मुक्केबाजी में ये चीजें होती हैं लेकिन दूसरे चरण तक मैं बेहतर संतुलन के साथ खेला। ’’ गौरव ने कहा , ‘‘ मेरे पीछे एक अच्छी टीम है और अब मैं स्वर्ण के लिए तैयारी कर रहा हूं।’’ वह फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के ही ब्रेंडन इॢवन से भिड़ेंगे।

इसके उलट अमित 49 किग्रा वर्ग में युगांडा के जुमा मिरो के खिलाफ आसान जीत (5-0) हासिल करने में सफल रहे। उन्होंने कहा , ‘‘ यह मेरी लिए काफी सहज था। मैंने अपने बायें मुक्के का काफी इस्तेमाल किया क्योंकि ये मेरी सबसे बड़ी ताकत है। ’’  हालांकि 19 साल के नमन स्थानीय खिलाड़ी जैसन वैटले से एक रोचक मुकाबले में 0-4 से हार गए। युवा विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने के बाद से यह नमन का सबसे अच्छा प्रदर्शन है।  

.
.
.
.
.