Sports

पंजाब केसरी विशेष ( निकलेश जैन ) आज जब पूरा विश्व कोरोना वाइरस से लड़ रहा है और बचाव का कोई साधन ना होने के कारण हम अपने घरो में सीमित रह गए है ऐसे में आप अपने और बच्चो के मानिसक तनाव को दूर करने के लिए शतरंज का खेल सीख और खेल सकते है । शतरंज के खेल ना सिर्फ आसानी से घर के अंदर खेल सकते है बल्कि इसके लिए आप ऑनलाइन कई वेबसाइट का सहारा ले सकते है । शतरंज का खेल ना सिर्फ आपके अंदर ध्यान एकाग्रता जैसे गुणो को बेहतर करेगा बल्कि आपके अंदर मुश्किल समय में भी सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने और सचेत रहने  जैसे गुणो का विकास करेगा । ऐसे समय में जब बच्चो को घर में समय काटने में दिक्कत आएगी यह खेल उन्हे एक जगह बैठकर व्यस्त रहने में भी मदद करेगा । बच्चो को अनुशासन सिखाने में भी यह खेल काफी मददगार साबित होता है । 

PunjabKesari
भारत के 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद हमेशा से शतरंज को स्कूल के जरिये बच्चो को सिखाने के पक्षधर रहे है तो पूर्व विश्व चैम्पियन रूस के गैरी कास्पारोव 21 सदी की चुनौतियों का सामना करने के शतरंज को एक वरदान की तरह मानते है । कई सर्वे यह भी साबित कर चुके है की शतरंज खेलने वाले ना सिर्फ पढ़ाई में अच्छे होते है बल्कि उनकी निर्णय लेने की क्षमता काफी बेहतर होती है । 

खूब खेला जा रहा है ऑनलाइन शतरंज – विश्व शतरंज संघ नें पिछले दिनो यह जानकारी भी दी की कैसे रूस में चल रहे फीडे कैंडीडेट में भले ही दर्शक ना हो पर ऑनलाइन दर्शको के मामले में यह सारे रिकार्ड तोड़ रहा है । विश्व में सभी शतरंज वेबसाइट में इन दिनो सामान्य दिनो की तुलना में चार से पाँच गुने तक खेलने वाले खिलाड़ी ना सिर्फ बढ़ गए है बल्कि इनमें 24 घंटो निरन्तरता बनी हुई है । तो इस कठिन समय में यह खेल हमे काफी फायदे दे सकता है । 

.
.
.
.
.