Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी का असर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली आगामी सीरीज पर पड़ने वाला है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कोरोना वायरस के कारण ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने अगले छह महीनों के लिए अपनी सीमा को बंद रखने का फैसला लिया है। भारत का ऑस्ट्रेलियाई दौरा अक्टूबर में टी-20 सीरीज से शुरू होना था और दिसंबर में टेस्ट सीरीज के साथ इसका अंत होना था। इसमें टी20 वर्ल्ड कप भी शामिल था। 

ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के कारण 2000 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं जबकि 16 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। इसी के चलते ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने देश की सीमाओं को बंद करने का फैसला लिया है। इस यात्रा संबंधित के कारण आगामी दिनों में होने वाले टूर्नामेंट के लिए किसी भी टीम को ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी जिसमें टी-20 वर्ल्ड कप और भारतीय टीम का दौरा शामिल है। 

ऑस्ट्रेलिया के इस कदम के बाद अब बीसीसीआई को वैकल्पिक योजना बनानी पड़ सकती है। आईपीएल पर अंतिम फैसले के साथ अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर भी चिंता का विषय है क्योंकि इसमें श्रीलंका (वनडे और टी-20), जिम्बाब्वे दौरा, एशिया कप (टी-20) और इंग्लैंड के खिलाफ सफेद गेंद की क्रिकेट सीरीज शामिल है। एक रिपोर्ट में बीसीसीआई सूत्र के हवाले से कहा गया है कि यह संभवत: छह महीने की यात्रा पांबदी है। लेकिन अभी कुछ भी कहा जल्दबाजी होगी क्योंकि अगर हालात काबू में आने पर ये प्रतिबंध कम भी किया जा सकता है।

बीसीसीआई के एक अन्य सूत्र ने इस बारे में कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय यात्रा पांबदी 6 महीने तक जारी रहती है तो यह लॉजिस्टिकल दुस्वप्न हो जाएगा। कम से कम टी-20 सीरीज के लिए जो टी-20 वर्ल्ड कप से पहले होगी। उन्होंने आगे कहा कि इससे वीजा और टिकट बनवाना भी काफी चुनौतीपूर्ण होगा। ऑस्ट्रेलिया ही नहीं, इंग्लैंड को भी सितंबर में सफेद गेंद की सीरीज के लिए भारत का दौरा करना है। ऐसे में यदि ब्रिटेन में चीजें सामान्य होंगी तभी खिलाड़ियों को यात्रा की अनुमति दी जाएगी जो बड़ा सवाल है। 

.
.
.
.
.