Sports

नई दिल्ली : भारतीय बैडमिंटन संघ (बाई) ने जर्मनी में सारलॉरलक्स ओपन में हिस्सा लेने गए भारतीय खिलाडिय़ों के एक कोच के कोरोना से संक्रमित होने के कारण क्वारेंटीन में रहने और उनकी स्वदेश वापसी में सहयोग करने के लिए विश्व बैडमिंटन संघ (बीडब्ल्यूएफ), जर्मन बैडमिंटन एसोसिएशन और भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) का धन्यवाद किया है। इन खिलाड़ियों में लक्ष्य सेन, अजय जयराम और शुभंकर डे शामिल हैं। इसके अलावा लक्ष्य के पिता और कोच डी के सेन भी टीम के साथ गए थे और कोच के कोरोना संक्रमित होने के कारण पूरी टीम को टूर्नामेंट से हटने के लिए मजबूर होना पड़ा था।

कोच सेन के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद एहितायतन पूरी टीम को पांच दिनों के लिए क्वारेंटीन में रखा गया था। इसके पांच दिन बाद उनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें वापस भारत जाने की अनुमति प्रदान की गई। जर्मनी से भारत लौटे इन बैडमिंटन खिलाडिय़ों को अब सात दिनों के होम क्वारेंटीन में रहना होगा। 

इससे पहले साई ने बैडमिंटन खिलाड़यिों अजय जयराम और शुभंकर डे के जर्मनी में क़्वारंटीन समय के दौरान होटल में ठहरने और खाने-पीने के खर्च वहन किया था। साई ने मानवीय आधार पर 30 अक्टूबर से 10 नवंबर की अवधि में होने वाले खर्चों का भुगतान करने का फैसला किया था।

.
.
.
.
.