Sports

नयी दिल्ली : भारतीय टेनिस महासंघ ने देश के शीर्ष खिलाड़ियों को अगले साल प्रतिस्पर्धी टेनिस में वापसी की तैयारी के लिये मंच प्रदान करने के मकसद से डीएलटीए में अभ्यास शिविर में बुलाने का फैसला किया है। अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) ने शिविर में शीर्ष 20 पुरूष और महिला खिलाड़ियों को आमंत्रित करने का फैसला किया है। इसके आखिर में एकल प्रारूप में राष्ट्रीय चैम्पियनशिप खेली जा सकती है।

पुरूष खिलाड़ियों का 21 दिवसीय शिविर 30 नवंबर से शुरू होगा जबकि महिला खिलाड़ियों का शिविर चार जनवरी से आरंभ होगा। शिविर डेविस कप कोच जीशान अली की देखरेख में होगा। जो प्रशिक्षण शिविरों के हाई परफार्मेंस निदेशक होंगे। उनके साथ दूसरे कोच, फिटनेस ट्रेनर, आहार विशेषज्ञ और जिम ट्रेनर भी रहेंगे।

इस शिविर में फोकस शारीरिक अनुकूलन, आहार योजना , खुराक, प्रदर्शन के विश्लेषण पर रहेगा। एआईटीए महासचिव अनिल धूपर ने कहा- हम चाहते हैं कि हमारे खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों के लिये तैयार रहें। हम देख रहे हैं अगर शिविर के आखिर में राष्ट्रीय चैम्पियनशिप का आयोजन संभव हो सकता है क्योंकि इस साल फेनेस्टा चैम्पियनिशप भी नहीं हो सकी । इस पर फैसला कल तक हो जायेगा।

यह चैम्पियनशिप एकल वर्ग में ही होगी । बीस खिलाड़ियों को चार चार के पांच समूहों में बांटा जायेगा जो राउंड राबिन आधार पर खेलेंगे। इसके बाद नॉकआउट चरण होगा। खिलाड़ियों की यात्रा और रहने का खर्च एआईटीए उठायेगा। विजेता को 75000 रूपये, उपविजेता को 50000 और सेमीफाइनल में पहुंचने वाले को 30000 रूपये दिये जायेंगे।

.
.
.
.
.