Sports

नई दिल्ली : भारतीय टीम के दिग्गज क्रिकेटर रहे सचिन तेंदुलकर ने आज ही के दिन 25 साल पहले कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में अपने करियर का पहला शतक लगाया था। तेंदुलकर भले ही 1989 में डेब्यू कर चुके थे। लेकिन उन्हें पहले शतक लगाने के लिए पांच साल और 77 मैचों का इंतजार करना पड़ा। आखिर नौ सितंबर 1994 को वह दिन आया जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनका बल्ला जमकर बोला। सचिन ओपनिंग पर आए थे। शुरुआती 50 रन तो उन्होंने काफी धीमे बनाए लेकिन इसके बाद उनके बल्ले से धड़ाधड़ रन निकलने लगे।

PunjabKesari
दरअसल, श्रीलंका में उन दिनों सिंगर वल्र्ड सीरीज चल रही थी। इसके तहत भारतीय टीम प्रेमदासा स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भिड़ रही थी। भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। मनोज प्रभाकर 20 रन बनाकर चलते बने। इसके बाद भी विकेट गिरती रहीं। लेकिन सचिन ने एक छोर संभाले रखा और 119 गेंदों पर अपना पहला शतक पूरा किया। सचिन ने इस मैच में 130 गेंदों में आठ चौके और दो छक्कों की मदद से 110 रन बनाए थे। 

PunjabKesari
तेंदुलकर की इस पारी की बदौलत भारतीय टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में 246 रन बनाए थे। लेकिन इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 214 रनों पर सिमेट दिया। सचिन को उनके अच्छे प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। बता दें कि सचिन 24 साल के करियर के दौरान टेस्ट और वनडे जैसे फॉर्मेट में सर्वाधिक स्कोर बनाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर हैं।

.
.
.
.
.