Gadgets

नई दिल्ली : चीनी स्मार्टफोन निर्माता शिओमी ने आखिरकार भारत में लॉन्चिंग के 4 साल बाद अपना वित्तीय सेवा कारोबार बंद कर दिया है। कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि वार्षिक मूल्यांकन के बाद हमने मुख्य व्यावसायिक सेवाओं पर ध्यान केंद्रित करने के चलते मार्च 2022 में एमआई फाइनेंशियल सर्विसेज को बंद कर दिया है। कंपनी का एमआई पे एप जोकि उपयोगकर्ताओं को बिल भुगतान और पैसे के लेन देन की अनुमति देता है, अब नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) की वेबसाइट पर मान्यता प्राप्त तृतीय-पक्ष यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) एप में सूचीबद्ध नहीं है।

 

अप्रैल में भारत की संघीय वित्तीय अपराध एजेंसी ने शिओमी की 676 मिलियन डॉलर की संपत्ति को फ्रीज कर दिया था। कंपनी पर आरोप लगा था कि उसने रॉयल्टी भुगतान के रूप में विदेशी संस्थाओं को अवैध रूप से प्रेषण किया। बता दें कि 2020 में सीमा पर संघर्ष के बाद पैदा हुए राजनीतिक तनाव के चलते कई चीनी कंपनियां भारत में व्यापार करने के लिए संघर्ष कर रही हैं। भारत ने तब से 300 से अधिक चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाए हैं जिनका कारण सुरक्षा चिंता बताया गया है। इसमें टिकटॉक जैसे लोकप्रिय ऐप भी शामिल हैं।

.
.
.
.
.