Chandigarh

चंडीगढ़ (सुशील) : सैक्टर 34 के पुलिस स्टेशन में मंगलवार रात को एस.एच.ओ. के बयान को लेकर तनाव पैदा हो गया। यहां लोगों ने थाने का घेराव कर एस.एच.ओ. को सस्पैंड करने की मांग की। 

 

मामला उस वक्त बिगड़ा, जब सैक्टर 34 स्थित लालावाला पीर की मजार के गद्दी नशीन नईम अख्तर चिश्ती साबरी अपने भाईयों के झगड़े के मामले में एस.एच.ओ. बलदेव को मिलने थाने गए थे। उन्हें एस.एस.पी. ने जाकर उनसे मिलने को कहा था। 

PunjabKesari

दरअसल कुछ दिन पहले निजामुद्दीन व मोहम्मद असलम नामक दो भाईयों के बीच झगड़ा हुआ था और पुलिस मोहम्मद असलम का साथ दे रही थी। इसकी शिकायत लेकर दोनों के बड़े भाई फेयर इंक्वायरी की मांग लेकर एस.एस.पी. से मिले थे, जहां एस.एस.पी. ने एस.एच.ओ. को मामले में निष्पक्ष जांच को कहा था।

 

100 से अधिक लोग थाने पहुंचे
देर रात तक करीब 100 लोग थाने में जमा थे और गिरफ्तारी देने की बात कर एस.एच.ओ. के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे थे। खलीफा नईम अख्तर चिस्ती साबरी ने कहा कि एस.एच.ओ. ने जोर  देकर कहा था कि उनके पास पुख्ता सबूत हैं कि मजार में नशेड़ी लोग जमा रहते हैं। 

 

उन्होंने वह सबूत दिखाने की मांग की और एस.एच.ओ. के खिलाफ धार्मिक भावनाएं आहत करने का मामला दर्ज करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर कार्रवाई नहीं हुई तो वह गिरफ्तारियां देंगे।

.
.
.
.
.